Monday , May 28 2018

किशन जी का क़रीबी साथी राम दास गिरफ़्तार

मक़्तूल (मारे गये)बाग़ी क़ाइद किशन जी के क़रीबी रफ़ीक़(दोस्त)और आला माविस्ट (माओवादी) क़ाइद (लीडर) जो कि झारखंड और बिहार में कई केसेस में पुलिस को मतलूब (तलाश)हैं, को आज यहां गिरफ़्तार कर लिया गया है। सीनीयर सुप्रीटेंडेंट पुलिस सुकेत

मक़्तूल (मारे गये)बाग़ी क़ाइद किशन जी के क़रीबी रफ़ीक़(दोस्त)और आला माविस्ट (माओवादी) क़ाइद (लीडर) जो कि झारखंड और बिहार में कई केसेस में पुलिस को मतलूब (तलाश)हैं, को आज यहां गिरफ़्तार कर लिया गया है। सीनीयर सुप्रीटेंडेंट पुलिस सुकेत कुमार सिंह ने बताया कि राम दास गंजू उर्फ़ नायडू जो कि किशन जी के क़रीबी रफ़ीक़ ( दोस्त) हैं और वो बिहार, झारखंड, ओडीशा, छत्तीसगढ़ ख़ुसूसी इलाक़ाई कमेटी के रुकन ( सदस्य) भी हैं, को आज यहां गिरफ़्तार कर लिया गया।

उन्हें एक इत्तिला मौसूल ( खबर/सूचना मिलना) होने पर रांची रेलवे स्टेशन से क़रीब जबकि वो धनबाद जाने की कोशिश कर रहा था, गिरफ़्तार कर लिया गया। गंजू एक पोस्ट ग्रेजूएट हैं और माविस्टों की सयासी तालीमी कमेटी के रुकन ( सदस्य) भी हैं। यहां पुलिस को माविस्ट सरगर्मीयों के ताल्लुक़ (संबंध) से इत्तेलाआत मौसूल ( ( खबर/सूचना मिलने पर) होने पर उन्हें गिरफ़्तार करने की कार्रवाई की गई।

ज़िला मग़रिबी ( पश्चिम) बंगाल के ज़िला मदनापुर के जंगलात में सी आर पी एफ़ कोबरा अमला (कर्मचारी) और पुलिस की मुशतर्का कार्रवाई के दौरान किशन जी को पिछले साल 24 नवंबर को एक एंकाउंटर में हलाक ( मार देना) कर दिया गया था जबकि एक ख़ातून माविस्ट क़ाइद सुचित्रा महातो जो कि किशन जी के हमराह ( साथी) थीं, यहां से फ़रार होने में कामयाब हो गई थी।

TOPPOPULARRECENT