Saturday , June 23 2018

किसानों को ख़ुदकुशी से बाज़ रहने चीफ़ मिनिस्टर सदा रामिया की अपील

गुलबर्गा 22 जुलाई:रियासत कर्नाटक में फसलों की नाकामी और कर्ज़ों के बोझ से तंग आकर पिछ्ले दो माह के दौरान 70 किसानों ने ख़ुदकुशी करली है। इन हालात में किसानों के मसाइल से वाक़फ़ीयत के लिए स्वामीनाथन कमेटी उनके मसाइल का जायज़ा लेगी।

ज़रई साईनसदन एम एस स्वामी नाथान जो इस कमेटी के सदर नशीन हैं किसानों को ख़ुदकुशी जैसे इंतेहाई इक़दाम से बचाने के लिए मुनासिब इक़दामात करने, मुनासिब प्रोग्रामों और प्रोजेक्टों को शुरू करने की सिफ़ारिश करेंगे।

एक सहाफ़ती कांफ्रेंस में इन तफ़सीलात का इज़हार करते हुए चीफ़ मिनिस्टर सदर उमय्या ने कहा कि बदनसीबी से पिछ्ले दो माह के दौरान ख़ुदकुशी करने वाले किसानों की तादाद में इज़ाफ़ा ही होता जा रहा है। और ज़रूरी होगया हैके किसानों की ख़ुदकुशी के वाक़ियात की सही वजूहात का पता चलाए जाये।

उन्होंने कहा कि हुकूमत किसानों को बगै़र किसी सूद के कर्जे़ फ़राहम कररही है और उनकी इमदाद के लिए हर मुम्किना क़दम उठा रही है। मैसूर और मंडया के अलावा कोलार में भी किसानों की ख़ुदकुशी के वाक़ियात हुए हैं।

TOPPOPULARRECENT