Saturday , December 16 2017

किसान , बेतहाशा सूद पर ख़ानगी क़र्ज़ ना लें

कलक्टर ज़िला मेदक सुमीता सभरवाल ने कहा कि हुकूमत किसानों की तरक़्क़ी और फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए कई एक इक़दामात कर रही है जैसे किसानों को हर किस्म के तुख़्म और खाद की सब्सीडी पर फ़राहमी, ज़रई अगर इस के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले जदीद असरी आ

कलक्टर ज़िला मेदक सुमीता सभरवाल ने कहा कि हुकूमत किसानों की तरक़्क़ी और फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए कई एक इक़दामात कर रही है जैसे किसानों को हर किस्म के तुख़्म और खाद की सब्सीडी पर फ़राहमी, ज़रई अगर इस के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले जदीद असरी आलात ज़रई अग़राज़ के लिए क़र्ज़ा जात की फ़राहमी के अलावा ज़रई शोबा की तरक़्क़ी से मुताल्लिक़ तमाम तर सहूलयात मुहय्या किए जा रहे हैं ताकि किसान ज़्यादा से ज़्यादा मिक़दार में फसलों के हुसूल में कामयाबी हासिल करते हुए ख़ुशहाल ज़िंदगी गुज़ारें।

कलक्टर सुमीता सभरवाल ने नारायणखेड़ में मुख़्तलिफ़ संग बुनियाद और इफ़्तेताही तरक़्क़ियाती प्रोग्रामों में हिस्सा लेने के बाद बाबा फंक्शन हाल नारायणखेड़ में मुनाक़िदा रीतों हीता सदसो से मुख़ातब कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि हुकूमत किसानों को दरपेश मसाइल के हल के लिए हर मुम्किना कोशिश कर रही है ताकि किसान तबक़ा की ख़ुशहाली को यक़ीनी बनाया जा सके।

कलक्टर सुमीता सभरवाल ने किसान तबक़ा से पुरज़ोर अपील की के वो एहसास कमतरी का शिकार ना हूँ और ना ही ख़ुदकुशी की राह को अपनाएं बल्कि वो हुकूमत की तरफ से दी जाने वाली मुराआत से भरपूर इस्तेफ़ादा करते हुए ज़रई शोबा की तरक़्क़ी पर ख़ुसूसी तवज्जा दें और बेतहाशा सूद पर ख़ानगी तौर पर क़र्ज़ा जात की हुसूल से परहेज़ करें।

TOPPOPULARRECENT