किसी की भी क़ियादत में खेलने को तैय्यार हूँ: शाहिद आफ़रीदी

किसी की भी क़ियादत में खेलने को तैय्यार हूँ: शाहिद आफ़रीदी
कराची 19 सितंबर (ए एफ़ पी) पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के साबिक़ कप्तान शाहिद आफ़रीदी ने कहा है कि उन पर टीम में वापसी के लिए शायक़ीन और अवाम का बहुत ज़्यादा दबाओ है। मीडीया नुमाइंदों से गुफ़्तगु करते हुए उन्हों ने कहा कि हालात में मज़ीद बेहतर

कराची 19 सितंबर (ए एफ़ पी) पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के साबिक़ कप्तान शाहिद आफ़रीदी ने कहा है कि उन पर टीम में वापसी के लिए शायक़ीन और अवाम का बहुत ज़्यादा दबाओ है। मीडीया नुमाइंदों से गुफ़्तगु करते हुए उन्हों ने कहा कि हालात में मज़ीद बेहतरी का इंतिज़ार कररहा हूँ। जारिहाना ऑल राॶनडर ने कहा कि पाकिस्तानी टीम के ड्रेसिंग रुम के माहौल में बेहतरी आरही है, इस में मज़ीद मुसबत तबदीलीयों के बाद फ़ैसला भी तबदील करने पर ग़ौर करूंगा। क़ियादत मेरा मसला नहीं, आम खिलाड़ी की हैसियत में भी मुल्क-ओ-क़ौम केलिए खेलने को तैय्यार हूँ। वक़्त और हालात में बेहतरी के साथ क्रिकेट में अपनी वापसी का ऐलान करूंगा, इस सिलसिले में दोस्तों से मुशावरत जारी ही। शाहिद आफ़रीदी ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट में खिलाड़ियों के मसाइल हल करने की ज़रूरत है, खिलाड़ियों की इज़्ज़त होनी चाहिए ताकि वो आरामदेह और पुरसुकून माहौल में अपनी टीम के लिए खेल सकें। इस वक़्त मेरी तवज्जा फ़िटनैस और डोमेस्टिक क्रिकेट में कारकर्दगी पर मर्कूज़ है। उन्हों ने मज़ीद कहा कि टीम में वापसी और खेलने के लिए कोई भी अपनी इज़्ज़त और वक़ार का सौदा नहीं करसकता। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के साबिक़ कप्तान शाहिद आफ़रीदी का ख़्याल है कि पाबंदी का सामना कररहे फ़ासट बोलर मुहम्मद आमिर को असपाट फिक्सिंग में मुलव्वस होने के मुआमले में पहले ही इक़बाल-ए-जुर्म कर लेना चाहीए था।आफ़रीदी का ये ब्यान ऐसे वक़्त आया है जब समाअत के दौरान आमिर ने एक तहरीरी ब्यान दाख़िल करके इस स्कैंडल में उन के ख़िलाफ़ आइद किए गए इल्ज़ामात को तस्लीम करलिया। आफ़रीदी ने मज़ीद कहा कि अभी ये देखा जाना बाक़ी है कि आमिर को इस काम के लिए किस ने फंसाया और उन के साथी कौन ही। शाहिद आफ़रीदी ने अपने करीयर के बारे में बात करते हुए कहा कि वो कोच वक़ार यूनुस की रहनुमाई में मज़ीद नहीं खेल सकते जो उन के लिए मसाइल पैदा कररहे हैं। आफ़रीदी ने मज़ीद कहा कि (इन के जाने के बाद )सूरत-ए-हाल बेहतर हुई है और वो क्रिकेट खेलना जारी रखना चाहते हैं। उन्हों ने ज़िमबावे में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की कामयाबी पर उसे मुबारकबाद भी दी।

Top Stories