किसी देश को हक़ नहीं है कि वो यरुशलम को इजरायल की राजधानी घोषित करे- मलेशियाई पीएम

किसी देश को हक़ नहीं है कि वो यरुशलम को इजरायल की राजधानी घोषित करे- मलेशियाई पीएम

मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा है कि किसी भी देश को यह अधिकार नहीं है कि वह बैतुल मुक़द्दस को इस्राईल की राजधानी के रूप में स्वीकार करे।

बैतुल मुक़द्दस को ज़ायोनी शासन की राजधानी के रूप में मान्यता देने के आॅस्ट्रेलिया के फ़ैसले की आलोचना करते हुए महातीर मुहम्मद ने थाइलैंड की राजधानी बैंकाक में कहा कि बैतुल मुक़द्दस हमेशा से फ़िलिस्तीनियों का रहा है और आज जैसा वह है, वैसा ही बाक़ी रहना चाहिए।

मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ सरकारों की ओर से बैतुल मुक़द्दस के इस्लामी शहर को एक एेसी सरकार से संबंधित करने के आग्रह का कोई औचित्य नहीं है, जिसका बैतुल मुक़द्दस कभी रहा ही नहीं है।

उन्होंने कहा कि यह काम, मुसलमानों और यहूदियों के बीच युद्ध करवाने के उद्देश्य से रचा गया षड्यंत्र है।

मलेशिया के विदेश मंत्रालय ने भी आॅस्ट्रेलिया सरकार के इस फ़ैसले के विरोध में कहा है कि क्वालालंपुर बैतुल मुक़द्दस की राजधानी वाले फ़िलिस्तीन देश की स्वाधीनता पर गंभीरता से बल देता है।

ज्ञात रहे कि आॅस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काॅट मोरिसन ने कहा है कि उनका देश अपना दूतावास तेल अवीव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित कर देगा।

साभार- ‘parstoday.com’

Top Stories