Tuesday , December 12 2017

कुछ तो हुआ था… मज़हकाख़ेज़

दिल्ली की तरफ़ फ़ौज के कूच के मुआमले पर एक बड़ा इन्किशाफ़ साबिक़ लेफ़्टिनेंट जनरल ए के चौधरी ने किया है। ए के चौधरी ने इसे लेकर चौंकाने वाला बयान दिया है। एक अंग्रेज़ी अख़बार को दिए बयान में लेफ़्टिनेंट जनरल चौधरी ने कहा, कुछ तो हुआ था, जिस

दिल्ली की तरफ़ फ़ौज के कूच के मुआमले पर एक बड़ा इन्किशाफ़ साबिक़ लेफ़्टिनेंट जनरल ए के चौधरी ने किया है। ए के चौधरी ने इसे लेकर चौंकाने वाला बयान दिया है। एक अंग्रेज़ी अख़बार को दिए बयान में लेफ़्टिनेंट जनरल चौधरी ने कहा, कुछ तो हुआ था, जिस को लेकर हुकूमत फ़िक्रमंद थी।

तीन हफ़्ते पहले ही फ़ौज से रिटायर हुए लेफ़्टिनेंट जनरल ए चौधरी ने इस बात की तसदीक़ की है कि जनवरी 2012 में फ़ौज की दो जोड़ा दिल्ली की तरफ़ कूच कर गई थी और इसे लेकर यू पी ए हुकूमत के आला क़ियादत को हिलाया था।

ताहम ए के चौधरी ने अपने बयान को ग़लत बताया। अखबार में छपी इस खबर पर जनरल बी के सिंह ने नाराज़गी ज़ाहिर की है। उन्होंने कहा कि ख़बर से तस्वीर को ख़राब करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बग़ावत की ख़बर को मज़हकाख़ेज़ क़रार दिया।

चौधरी के मुताबिक़ फ़ौज के आली अफ़्सर और हुकूमत के दरमयान इस क़दर भरोसा कम गया था कि डीफ़ैंस सैक्रेटरी शशकात शर्मा ने देर रात जनरल चौधरी को फोनकर पूछा कि आख़िर ये हो क्या रहा है। जनरल चौधरी ने ये भी कहा है कि अगर दोनों यानी वज़ीर-ए-दिफ़ा और फ़ौजी सरबराह के दरमयान ठीक से बातचीत हुआ होता तो शायद ये वाक़िया नहीं हुई होती। जनरल चौधरी का ये बयान दो साल बाद आया है।

TOPPOPULARRECENT