Tuesday , December 12 2017

कुत्तों को भी पढ़ाने के लायक नहीं हैं बिहार के टीचर: पप्पू यादव

पटना: जन अधिकार पार्टी के सदर और मधेपुरा से एमपी राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने एक बार फिर मुतनाज़ा बयान दिया है. पप्पू ने कहा कि रियासत के सरकारी स्कूलों में तैनात टीचर कुत्तों को भी पढ़ाने के लायक नहीं हैं, वे स्टूडेंट को क्या पढ़ाएंगे? पप्पू यादव ने बेगूसराय में एक इंतेखाबी रैली से खिताब करते हुए ये बातें कही.

पप्पू ने कहा कि अगर हम इक्तेदार में आए तो टीचर्स की तनख्वाह 50,000 रुपए से ऊपर होगी. उन्हें कुत्तों की तरह खाने लिए तरसना नहीं पड़ेगा. पप्पू ने इसके लिए टीचरों के सामने शर्त भी रखी. उन्होंने कहा कि टीचर्स को यूपीएससी के तर्ज पर एग्जाम देना होगा.

पप्पू यादव ने 23 सितंबर को पटना में अपनी जन अधिकार पार्टी का मैनिफेस्टो जारी किया था. उस दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने मुतनाज़ा बयान देते हुए कहा था कि ‘बिहार में गरीब के घर तफरीह के लिए सिर्फ बीवी होती है इसलिए मैं उन्हें रंगीन टीवी दूंगा.’ यादव ने पूरे रियासत में 5 रुपए में भरपेट खाना के लिए 300 मराकज़ खोलने के अलावा बीपीएल खानदान वालों को रंगीन टीवी और डीटीएच कनेक्शन और एक गाय देने का वादा भी किया था.

TOPPOPULARRECENT