Tuesday , December 19 2017

कुल जमाअती इजलास का लेटर गैर वाज़ेह

टी आर एस के साबिक़ रुकन पार्लियामेंट विनोद कुमार ने तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले वुज़रा और अवामी नुमाइंदों से मुतालिबा किया कि वो नई दिल्ली जाकर वज़ारत-ए-दाख़िला के लेटर में तबदीली कराएं और कुल जमाअती इजलास में हर सयासी जमात स

टी आर एस के साबिक़ रुकन पार्लियामेंट विनोद कुमार ने तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले वुज़रा और अवामी नुमाइंदों से मुतालिबा किया कि वो नई दिल्ली जाकर वज़ारत-ए-दाख़िला के लेटर में तबदीली कराएं और कुल जमाअती इजलास में हर सयासी जमात से सिर्फ़ एक नुमाइंदा की शिरकत को यक़ीनी बनाएं।

मीडीया के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए विनोद कुमार ने कहा कि वज़ारत-ए-दाख़िला ने तेलंगाना मसअले पर कुल जमाअती इजलास के सिलसिला में सियासी जमाअतों को जो लेटर रवाना किया है वो इंतिहाई ग़ैर वाज़ेह है।
] इस में तेलंगाना मसअले के हल का कहीं ज़िक्र नहीं सिर्फ़ अरकान-ए-पार्लियामेंट की नुमाइंदगी पर इजलास तलब करने की बात कही गई है। उन्हों ने ख़दशा ज़ाहिर किया कि अगर हर जमात से दो नुमाइंदे होंगे तो 28 दिसंबर के कुल जमाअती इजलास का हश्र भी साबिक़ के इजलासों की तरह होगा।

TOPPOPULARRECENT