केंद्रीय कैबिनेट छोड़ने का तेलुगू देशम का फ़ैसला जनता की जीत: जगन

केंद्रीय कैबिनेट छोड़ने का तेलुगू देशम का फ़ैसला जनता की जीत: जगन

ओंगोल: ए पी के अप्पोज़ीशन वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के प्रमुख वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से तेलुगु देशम के दो मंत्रियों को हटाने के फैसले पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि अगर पहले राज्य को विशेष दर्जा देने से वित्त मंत्री अरुण जेटली के इनकार पर एपी मुख्य मंत्री चंद्रा बाबू नायडू ये फ़ैसला ले लेते तो स्थिति अलग होती।

जगन ने ज़िला प्रकाशम के संतारा रो गावं में मीडिया से बात करते हुए कहा कि चंद्र बाबू नायडू ये कहते आरहे हैं कि विशेष दर्जा हर रोग का ईलाज नहीं है और वो विशेष पैकेज पर संतुष्ट हैं जिसकी पेशकश विशेष स्थिति के बदले में की गई थी। नायडू ने अवाम के दबाव और जज़बात के सामने झुकते हुए आख़िर ये फ़ैसला किया है इस का स्वागत किया जाता है।

जगन जो पिछले तीन महीने से पैदल यात्रा कर रहे हैं, ने जेटली की टिप्पणी का हवाला दिया जिसमें उन्होंने एपी को विशेष दर्जा की संभावना को खारिज कर दिया था।जगन ने कहा कि ये रिमार्कस नए नहीं हैं।

8 सितंबर 2016 को भी जेटली ने ऐसे रिमार्कस राज्य‌ के ख़िलाफ़ किए थे चंद्र बाबू ने इस का स्वागत किया था। मुख्य मंत्री ने ना सिर्फ जेटली के रिमार्कस का स्वागत किया था बल्कि उनको और इस वक़्त के केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू को सम्मान भी पेश की थी। उन्होंने कहा कि जब तेलुगू देशम के केंद्रीय कैबिनेट के साथ एकजुट होना चाहते हैं, तो प्रधान मंत्री से बात करने की क्या आवश्यकता है?

Top Stories