Sunday , December 17 2017

केंद्रीय मंत्री का निष्कर्ष : माँ दलित , पिता OBC , रोहित नहीं था दलित

image

नई दिल्ली : हैदराबाद यूनीवर्सिटी के दलित रिसर्च स्कालर की मौत के बाद दलितों के साथ किया जा रहे भेदभाव पर शुरू हुई राष्ट्रव्यापी बहस में केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी शामिल हो गये हैं |

सोशल जस्टिस एंड एम्पावरमेंट मिनिस्टर थावरचंद गहलोत ने अनुसूचित जाति के छात्रों को दिया जाने वाले अम्बेडकर मेरिट अवार्ड के एक समारोह में बोलते हुए कहा कि “इस मामले में दलित बनाम गैर-दलित मुद्दे होने का कोई सवाल ही नहीं है। रोहित और उसके परिवार वडेरा जाति के हैं और वे पिछड़े वर्ग से हैं लेकिन उन्होंने साथ ही इस बात को भी क़बूल किया कि उसकी माँ दलित है” |

गहलोत ने वेमुला की जाति के बारे में जो जाँच की है वो उनके साथी केन्द्रीय मंत्रियों सुषमा स्वराज और जुएल ओरांव से मिलती जुलती है |26 वर्षीय छात्र अपनी खुदकशी के बाद आस पास के ऐकडमिक इंस्टिट्यूशन में दलितों के साथ किये जा रहे बर्ताव पर बहस के मुद्दा बन गया है |

दलित स्कालर की खुदकशी के बाद बैकफुट पर आई केंद्र सरकार के मंत्रियों ने विरोध प्रदर्शन के आधार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि रोहित 1990 में पैदा हुआ था और जाँच में ये बात सामने आयी है कि जिस कास्ट सर्टिफ़िकेट में उसे दलित बताया गया है वह 2014 में बना है , इसका मतलब है कि तब 25 साल तक वो अपने पिता के साथ रह रहा था | यही वजह है कि उसे ये सर्टिफ़िकेट इससे पहले नहीं मिल पाया है , इससे सवाल ये उठता है कि उसने सर्टिफ़िकेट अभी बनवाया है |

गहलोत ने कहा कि, “ये सभी राजनीतिक नेता राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल और दूसरे जो रोहित की खुदकशी के बाद हैदराबाद के जा रहे हैं – मैं उनसे मालूम करना चाहता हूँ वे उस वक़्त कहाँ थे जब कैम्पस में 9 छात्रों ने खुदकशी की तब कोई बड़ा मुद्दा क्यूँ नहीं बना और ये सब उन लोगों की सरकार के दौरान हुआ है | उन्होंने इल्ज़ाम लगाया कि कांग्रेस रोहित की खुदकशी पर अपने फ़ायदे के लिए राजनीति कर रही है” |

उन्होंने कहा कि रोहित और उसके संगठन के साथी ‘राष्ट्र विरोधी’ गतिविधियों में शामिल थे उन्होंने 1993 के मुंबई सीरियल बम धमाकों में शामिल याकूब मेमन की फांसी का विरोध किया था | अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (भाजपा छात्र विंग)ने उनकी सरगर्मियों पर ऐतराज़ जताया तो उन्होंने एक छात्र के साथ मारपीट की थी जिसकी वजह से उन्हें हास्टल से निकाला गया था |

केन्द्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि हमें यक़ीन है कि रोहित और उसके साथियों को इंसाफ़ मिलेगा | इस मामले में सरकार की तरफ से न्यायिक जाँच करायी जा रही है जो भी कुसूरवार होगा उसे सज़ा मिलेगी |

TOPPOPULARRECENT