Saturday , September 22 2018

केंद्रीय मंत्री सुप्रियो ने राहत को लिखा पत्र, कहा- संगीत से भारत-पाक के बीच तनाव कम करने की कोशिश एक ‘विफल विचार’

गायक से नेता बने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने गायक राहत फतेह अली खान को खुला पत्र लिखकर कहा है कि कला और संगीत के माध्यम से भारत और पाकिस्तान के बीच के तनाव को पाटने की कोशिश एक ‘विफल विचार’ है.

आसनसोल से भारतीय जनता पार्टी के सांसद ने हाल ही में पाकिस्तानी कलाकारों के बॉलीवुड में काम करने पर आपत्ति जाहिर की थी. हालांकि उन्होंने इसे अपनी निजी राय बताई थी. मंत्री के रुख से उपजे विवाद पर राहत ने ट्वीट कर कहा था, ‘‘बहुत सी बातें कही जा रही हैं, इन सबके बीच मैं सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि संगीत की कोई सीमा नहीं होती और मेरे गानों के प्रति बहुत अधिक प्यार दिखाने के लिए मैं सबको शुक्रिया अदा करता हूं.’’

राहत के ट्वीट पर सुप्रियो ने कहा कि वह इस बात से सहमत हैं कि संगीत की कोई सीमा नहीं होती लेकिन कलाकारों को आतंकवाद जैसे मुद्दों पर कड़ा रुख अपनाना चाहिए और शांति को बढ़ावा देना चाहिए. मंत्री ने साथ ही कहा है कि राहत सहित संगीत जगत के कलाकारों को पाकिस्तान सरकार पर आतंकी गतिविधियों को समर्थन बंद करने को लेकर दबाव डालना चाहिए.

आपको बता दें कि इससे पहले भी पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में प्रतिबंध लगाने  की मांग चुकी है. ‘ऐ दिल है मुश्किल’ में पाकिस्तान के कलाकार फवाद खान का भारत में काफी विरोध हो चुका है. इसके अलावा शाहरुख खान  के साथ फिल्म में काम कर चुकीं माहिरा खान के भी हिंदी फिल्मों में काम करने में आपत्ति जताई जा चुकी है.
गौरतलब है कि इन सब विरोधों के बीच पाकिस्तान के गायक अदनान सामी को भारत की नागरिकता दी जा चुकी है. वहीं राहत फतेह अली खान के गानों के भारतीय फिल्मों में अच्छी-खासी मांग है
TOPPOPULARRECENT