Sunday , June 24 2018

केंद्र ने जल्लीकट्टू अध्यादेश को दी मंजूरी, जस का तस राष्ट्रपति के पास भेजा

जल्लीकट्टू पर शुक्रवार को केंद्र सरकार के विधि, पर्यावरण और संस्कृति मंत्रालय ने तमिलनाडु सरकार के अध्यादेश को अपनी मंजूरी दे दी। केंद्र सरकार ने मसौदे को जस का तस रखते हुए उसे राष्ट्रपति के पास भेज दिया है। एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी से सलाह-मशिवरे के बाद विधि मंत्रालय ने इस अध्यादेश को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के पास भेजा।

आ रही खबरों के मुताबिक, तमिलनाडु सरकार के इस प्रस्ताव को बिना किसी बदलाव और सिफारिशों के राष्ट्रपति के पास भेजा गया है। बताया जा रहा है कि राज्य सरकार के इस मसौदे में, जल्लीकट्टू में शामिल होने वाले सांड़ों को प्रदर्शन करने वाले जानवर कहा गया है।  सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र सरकार के इस अनुरोध को स्वीकार कर लिया कि इस मामले पर अगले हफ्ते तक फैसला नहीं सुनाया जाए।

गौरतलब है कि जल्लीकट्टू तमिलनाडु में सांड़ों के साथ होने वाला पारंपरिक खेल है, जिसमें सांड़ों के सींग में कपड़ा बाधा जाता है और जो व्यक्ति उस कपड़े को सांड़ के सींग से निकाल लाता है उसे इनाम दिया जाता है। लेकिन मई 2019 में इस पर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका की सुनवाई करते हुए रोक लगा दी थी।

वहीं दो दिनों पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेलवम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इसको लेकर मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि अध्यादेश पर राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद उसे तमिलनाडु के राज्यपाल विद्यासागर राव के पास भेज दिया जाएगा और राज्यपाल की मंजूरी के साथ ही यह अध्यादेश लागू हो जाएगा।

TOPPOPULARRECENT