Wednesday , December 13 2017

केजरीवाल NAC की रुकनीयत के लिए मुझ से रुजू हुए थे: द्विग विजय सिंह

कांग्रेस क़ाइद(नेता)द्विग विजय सिंह ने इद्दिआ(दावा) किया कि इंडिया अगेंस्ट करप्शन (IAC) रुकन ( सदस्य) अरविंद केजरीवाल ने एक तवील अर्सा क़बल ( बहत पहले) उन से राबिता ( संपर्क) क़ायम करते हुए सोनीया गांधी की क़ियादत (नेतृत्व) वाली नैशनल एडव

कांग्रेस क़ाइद(नेता)द्विग विजय सिंह ने इद्दिआ(दावा) किया कि इंडिया अगेंस्ट करप्शन (IAC) रुकन ( सदस्य) अरविंद केजरीवाल ने एक तवील अर्सा क़बल ( बहत पहले) उन से राबिता ( संपर्क) क़ायम करते हुए सोनीया गांधी की क़ियादत (नेतृत्व) वाली नैशनल एडवाइज़री कौंसल (NAC) में इन के लिए (केजरीवाल) एक अहम ओहदा की गुंजाइश पैदा करने की दरख़ास्त की थी ।

मिस्टर सिंह ने केजरीवाल की इन से मुलाक़ात का तज़किरा (चर्चा/ ज़िकर) करते हुए कहा कि 2005 या 2006 में केजरीवाल ने इन से मुलाक़ात की थी और दरख़ास्त की थी कि वो सोनीया गांधी की NAC के रुकन ( सदस्य) बनने के ख़ाहां हैं ।

अपनी बात जारी रखते हुए द्विगविजय सिंह ने कहा कि उन्होंने केजरीवाल की सिफ़ारिश भी की थी लेकिन सोनीया गांधी शायद अरविंद केजरीवाल को मुझसे ज़्यादा जानती थीं और चूँकि वो मुझसे ( सिंह) ज़्यादा अक़लमंद थीं लिहाज़ा उन्होंने केजरीवाल से मुलाक़ात करने से इनकार कर दिया था ।

बहरहाल केजरीवाल ने द्विगविजय सिंह के इस दावे पर किसी रद्द-ए-अमल ( प्रतिक्रिया) का इज़हार नहीं किया और सिर्फ इतना कहा कि द्विग विजय सिंह जो कुछ भी कह रहे हैं वो सरासर झूट है बेबुनियाद है और ऐसे ग़ैर ज़रूरी और ग़ैर अहम ब्यान पर वो कोई राय ज़नी ( मश्वरा) करना नहीं चाहते ।

याद रहे कि केजरीवाल अख़बारी नुमाइंदों ( पत्रकारो) से बात कर रहे थे और जब उन्होंने द्विग विजय सिंह के ब्यान के बारे में इन से इस्तिफ़सार (प्रश्न या सवाल) किया तो उन्होंने ये जवाब दिया ।

केजरीवाल के बारे में ये भी कहा जा रहा है कि अन्ना हज़ारे से अलग होकर वो अपना सयासी उल्लू सीधा करना चाहते हैं जबकि केजरीवाल ये इस्तिदलाल ( दलील) पेश करते हैं कि सयासी जमात तशकील ( निर्माण/ बना) देने से बदउनवानीयों ( भ्रष्टाचारियों) के ख़िलाफ़ उन की ( अन्ना हज़ारे और दीगर साथीयों) लड़ाई मूसिर (शक़्तिशाली/ ताकतवर) अंदाज़ में लड़ी जा सकती है ।

द्विग विजय सिंह को केजरीवाल से कोई शख़्सी ( निजी) मुख़ासमत ( दुश्मनी/ द्वेष) नहीं है लेकिन वो सिर्फ ये जानना चाहते थे कि इनके ब्यान का केजरीवाल क्या जवाब देते हैं ।

TOPPOPULARRECENT