Monday , December 18 2017

केनीया में गिरजाघरों पर दस्ती बम हमले, 17 हलाक

नैरुबी / शुमाली केनीया के क़स्बा ग्रेसा में आज दो गिरजाघरों पर ग्रेन्ड‌ से किए गए हमलों में कम से कम 17 लोग‌ हलाक होगए।ग्रेसा केनीया का एक अहम फ़ौजी अड्डा है जहां से ज़मीनी दस्ते अलक़ायदा से जुडे बाग़ीयों से लड़ने के लिए सोमालीया में तैना

नैरुबी / शुमाली केनीया के क़स्बा ग्रेसा में आज दो गिरजाघरों पर ग्रेन्ड‌ से किए गए हमलों में कम से कम 17 लोग‌ हलाक होगए।ग्रेसा केनीया का एक अहम फ़ौजी अड्डा है जहां से ज़मीनी दस्ते अलक़ायदा से जुडे बाग़ीयों से लड़ने के लिए सोमालीया में तैनात किए गए हैं। जब से केनीया ने अलशबाब जंगजूओं को कुचलने के लिए अपने दस्ते सरहद पार भेजे हैं, उसे कई बार इस तरह के धमाकों का निशाना बनना पड़ा है।

केनीया कि राजधानी और दुसरे हिस्सों में इस प्रकार‌ के मुतअद्दिद ग्रेन्ड‌ धमाके होचुके हैं।इलाक़ाई नायब पुलिस अधीकारी फ़लिप नदोलो ने राईटर को बताया कि जंगजू ने जिन्हों ने स्याह नक़ाबें लगा रखी थीं,शहर के कैथोलिक चर्च और अफ़्रीक़ी इनलैंड चर्च में ग्रेन्ड फेंके।

उन्हों ने बताया कि अब तक हमारे पास दस लोगों के मरने की खबर‌ है।इन हमलों में कम से कम चालीस लोग‌ ज़ख़मी भी हुए हैं।पिछ्ले इतवार को ममबासा के साहिल पर वाके एक नाइट कलब में एक धमाका में एक शख़्स हलाक होगया था। इस से एक ही रोज़ पहले अमेरीकी सिफ़ारत ख़ाना ने केनीया को शहर में होने वाले हमले से ख़बरदार किया था।

ग्रेसा कीनीया के दादाब पनाह गज़ीन कैंप से लगभग‌ सौ किलो मीटरी दूरी पर वाके है। इस कैंप में बंदूक़ बर्दारों ने शुक्रवार को चार रिलीफ‌ कारकुनों का अपहरण‌ कर लिया था और एक ड्राईवर को गोली मार कर हलाक कर दिया था। केनीया के ज़रीये सिक्योरिटी दस्तों की तैनाती के बाद से ग़ैरमुल्कियों के अपहरण‌ का ये पहला मामला था।

TOPPOPULARRECENT