केन्द्र सरकार के ‘कश्मीर मिशन’ पर हुर्रियत नेताओं का बातचीत से इंकार

केन्द्र सरकार के ‘कश्मीर मिशन’ पर हुर्रियत नेताओं का बातचीत से इंकार
Click for full image

श्रीनगर। कश्मीर में शांति बहाली के लिए केंद्र सरकार के पहल पर झटका लगता दिख रहा है। हुर्रियत नेताओं ने बातचीत करने से इंकार कर दिया है। आपको बता दें कि हाल ही में सरकार ने कश्मीर में ऐलान किया था कि घाटी में सभी पक्षों से बातचीत का रास्ता अख्तियार किया जाएगा और इसके लिए सरकार ने पूर्व आईबी चीफ दिनेश्वर शर्मा को नियुक्त किया था, लेकिन हुर्रियत नेताओं ने बातचीत से इनकार कर दिया है।

अलगाववादी नेताओं ने कहा है कि केंद्र के द्वारा वार्ताकार की नियुक्ति से ये पता चला है कि सरकार कश्मीर मसले को लटकाने और कश्मीर पर कब्जा बनाए रखने के लिए हथकंडे आजमा रही है।

मंगलवार को आल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के कटटरपंथी गुट के चेयरमैन सईद अली शाह गिलानी, हुर्रियत प्रमुख मीरवाईज मौलवी उमर फारुक और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक ने एक साझा बयान जारी कर दिनेश्वर शर्मा से बातचीत की संभावना को नकार दिया है।

Top Stories