Thursday , December 14 2017

केबिनेट में बदलाव नहीं विस्तार है- मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को होने वाले कैबिनेट विस्तार से पहले कहा कि ये कैबिनेट में फेरबदल नहीं है, बल्कि एक विस्तार है. उन्होंने कहा, ‘मोदी को मोदी की इमेज बनाने के लिए काम नहीं करना चाहिए. देश की ग्लोबल इमेज प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है.’

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पहले कैबिनेट नोट्स लेने में कम से कम तीन महीने लग जाते हैं. लेकिन अब हमने इस अवधि को कम करके 15-30 दिन कर दिया है. कुछ अपवाद हैं, लेकिन हमें सफलता मिली है. ये मिनिमम गवर्मेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस का उदाहरण है. मोदी ने कहा कि हमने लाल फीताशाही को कम किया है. काम का बीमारू माहौल खत्म हो गया है और अब एक टीम के तौर पर काम शुरू हो चुका है.

बतौर प्रधानमंत्री, ‘मेरे लिए विकास और सुरक्षा सबसे अहम ब‍िंदु हैं. मोदी को मोदी की इमेज के लिए काम नहीं करना चाहिए. ये प्रधानमंत्री का दाय‍ित्व है कि वो भारत की वैश्विक स्वीकार्यता को और बढ़ाएं.’

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार में बढ़ती बेरोजगारी के सवाल पर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी बढ़ने की बात पूरी तरह सही नहीं है. उन्होंने कहा, ‘हमारे ताजा फैसले को देखें. अब देश में मॉल्स 24 घंटे खुले रह सकते हैं, लेकिन छोटी दुकानों को साप्ताहिक छुट्टी की जरूरत थी. इस फैसले से रोजगार के अवसर पैदा होंगे. लेकिन यह सरकारी आंकड़ों में नहीं दिखेगा.

TOPPOPULARRECENT