Tuesday , December 12 2017

केरल का अनाथालय शक के घेरे में, कल जसीडीह स्टेशन पर पहुंचेंगे बच्चे

झारखंड से बड़े पैमाने पर बच्चों की तस्करी हो रही है। केरल में झारखंड के बच्चों की बरामदगी के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। खबरों के मुताबिक झारखंड, मगरीबी बंगाल व बिहार समेत कुछ दीगर रियासतों से सैकड़ों बच्चे केरल ले जाये जा रहे हैं

झारखंड से बड़े पैमाने पर बच्चों की तस्करी हो रही है। केरल में झारखंड के बच्चों की बरामदगी के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। खबरों के मुताबिक झारखंड, मगरीबी बंगाल व बिहार समेत कुछ दीगर रियासतों से सैकड़ों बच्चे केरल ले जाये जा रहे हैं। इन रियासतों के छह सौ से ज़्यादा बच्चों को पल्ककाड रेलवे स्टेशन पर एजेंटों के साथ पकड़ा गया था।

पटना-कोच्ची एक्सप्रेस से 500 बच्चे 24 मई को वहां पहुंचे थे। इन बच्चों में से 167 बच्चे झारखंड के थे। इन सभी को कोझिकोड के मुक्कम मुसलिम अनाथालय ले जाया जाना था। इस अनाथालय का सदर इंडियन यूनियन मुसलिम लीग के एक लीडर सैयद हैदर अली सिहाब थांगल है। इस सिलसिले में जीआरपी ने मामला दर्ज किया है। इधर, इतनी बड़ी तादाद में बच्चों की बरामदगी के बाद केरल में हड़कंप मच गया है। एक एनजीओ के दरख्वास्त पर केरल हाइकोर्ट की चीफ जस्टिस मंजुला चेल्लुर व जज पीआर रामचंद्रन मेनन की बेंच ने मामले की संजीदगी से तहक़ीक़ात की जरूरत बतायी है। इस मामले में झारखंड समेत बिहार व मगरीबी बंगाल की हुकूमत को नोटिस दिया गया है। मरकज़ी समाज बोहबुद वजरा व रेलवे को भी इसमें पार्टी बनाया गया है।

मामला बच्चे की कारोबार का

केरल रियासती इंसानी हुकुक कमीशन के नोडल ओहदेदार एस श्रीजीत ने मामले की जांच के बाद सबसे पहले एखलाकी तौर से यह कहा है कि यह मामला बच्चे के कारोबार का है। वहीं कमीशन के सदर जज जेबी कोसी ने कहा कि है वह तहक़ीक़ात पूरी होने तक इंतजार करेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि जांच में इंसानी जिश्म के अलग अलग हिस्सों का कारोबार और बच्चे की जिंसी इस्तहशाल के नुक्तों को भी शामिल किया जाना चाहिए।

आज भेजे जायेंगे बच्चे

पीर को 140 बच्चे झारखंड के लिए चलेंगे। वे बुध तक जसीडीह स्टेशन पहुंचेंगे। यह जानकारी लेबर कमिशनर मनीष रंजन ने दी। उन्होंने बताया कि रियासत हुकूमत ने अभी अनाथालय पर केस दर्ज नहीं कराया है।

TOPPOPULARRECENT