Friday , November 17 2017
Home / India / केरल के लापता 15 युवा आईएस में शामिल होने का अंदेशा

केरल के लापता 15 युवा आईएस में शामिल होने का अंदेशा

तिरुवनंतपुरम: सरकार केरल ने आज यह घोषणा की है कि राज्य के 15 युवाओं के बारे में जांच करवाई जाएगी जो मध्य पूर्व में यात्रा के दौरान अचानक लापता होकर इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गए है। मुख्यमंत्री पनियाराई वैजयंती ने कहा कि यह एक गंभीर मामला है। बताया जाता है कि जिला कसारा गढ़ और पालिखड से जुड़े युवाओं परिवार सहित एक जोड़े को पिछले एक महीने से उनके बारे में कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई। और यह आशंका है कि धार्मिक शिक्षा प्राप्त करने के लिए मध्य पूर्व प्रस्थान के बाद वह उग्रवादी बन गए होंगे।

लापता इस युवा 30 साल से कम उम्र के हैं और उच्च शिक्षित और मीडिकोस हैं। यह मामला तब सामने आया जब इन युवकों के परिजनों ने स्थानीय नेताओं सहित सांसद दृष्टिकोण होकर यह सूचना दी और यह आशंका जताई है कि लापता लोग संभव है कि आईएस में शामिल हो गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कोच्चि में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यह एक गंभीर और चिंताजनक बात है जिसकी जांच करवाई जाएगी। मंत्री मालगुजारी ई चंद्रशेखर ने बताया कि अगर लापता केरलाई युवा इस्लामिक स्टेट के जाल में फंस गए हैं तो उन्हें ढूंढ निकालना मुश्किल है। इसके बावजूद सरकार जांच से परहेज नहीं करेगी। पहले केसरी गौड़ के सांसद पी करूनाकरन ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस मामले की तत्काल जांच के लिए पुलिस को निर्देश दिया है।

इस बीच केसरी गौड़ जिला पंचायत सदस्य वी पीपी मुस्तफा ने बताया कि ईद के अवसर पर 2 लापता युवकों के माता पिता को ‘वाट्स अप’ पर पयाम मिला कि वह मकान वापस नहीं आएंगे। यहाँ केवल आदेश दिव्य चलता है। आप चाहें तो आप भी शामिल हो सकते हैं। एक और पयाम में कहा गया है कि मुसलमानों पर अमेरिका के हमले के खिलाफ लड़ने के लिए हम आईएसओ में शामिल हो गए है। जिसके साथ ही माता पिता ने स्थानीय विधायक व संसद दृष्टिकोण होकर यह सूचना दी जिन्होंने यह मामला मुख्यमंत्री के बताया।

इस बीच माकपा के सीनियर नेता लोक सभा में कासरगोड प्रतिनिधि पी क्रोना किरण ने मुख्यमंत्री पनरई वैजयंती से मांग की है कि कासरगोड और पलककड़ जिलों से अधिक से एक महीने से लापता पांच महिलाओं सहित पंद्रह लोगों का पता चलाया जाए जो शायद खतरनाक इस्लामी राज्य (आईएस) में शामिल हो गए है।

यह बात मार्क्सवादी संसदीय नेता ने मुख्यमंत्री से एक याचिका में कही  लापता लोग 5 जून व्यावसायिक उद्देश्य के लिए श्रीलंका के लिए रवाना हुए थे। उन से प्राप्त सूचना से संकेत मिलता है कि वे आतंकवादियों के हत्थे चढ़ गए हैं। लापता लोगों में पदानाके डॉक्टर एजाज़, उनकी पत्नी रनिलह उनका दो वर्षीय बच्चे, भाई चंगा और उसकी पत्नी के अब्दुल अब्दुल्ला और उनकी पत्नी आयशा उनका 2 वर्षीय बच्चे हफीज उद्दीन, मरवान इस्माइल, अशफाक मजीदोर फैरोज़ शामिल हैं। इन सबका संबंध कासरगोड से हैं।

TOPPOPULARRECENT