केरल: भ्रस्टाचार के बावज़ूद कांग्रेस को अभी भी उम्मीद

केरल: भ्रस्टाचार के बावज़ूद कांग्रेस को अभी भी उम्मीद

images

नई दिल्ली | सियासी जंग में कांग्रेस को लगता है कि BJP केरल में सत्तारूढ़ UDF और वाम दलों के हिंदू वोट काट रही है लेकिन इसके बावजूद अल्पसंख्यक समाज के समर्थन से वह बेहतर हालात में है। केरल का चुनावी इतिहास इस बात का गवाह रहा है कि सूबे के लोगों ने शायद ही कभी सत्तारूढ़ पार्टी को दोबारा मौका दिया है। सूबे में हाल में भ्रष्टाचार को लेकर उठे आवाज़ के बाद कांग्रेस के लिए इस चुनाव को कड़े मुकाबले के तौर पर देखा जा रहा है। सूबे के चुनाव में BJP फैक्टर ने कांग्रेस के लिए उलट-पुलट की उम्मीदें बढ़ा दी हैं।

मगर कांग्रेस लीडरशिप को सूबे से जो फीडबैक मिल रहा है उसके मुताबिक BJP केरल के दोनों खास राजनीतिक धुरियों के वोट बैंक को अपने तरफ खींच रही है। BJP जहां एक ओर वाम दलों के लिए रुझान रखने वाले इझावा समुदाय को रिझा रही रही है, वहीं कांग्रेस के करीबी माने जाने वाले नायर तबके के कुछ लोगों में भी पैठ बनाती हुई दिख रही है। कांग्रेस और वाम दलों के जनाधार का एक नए दावेदार की तरफ खिसकने पर सूत्रों का कहना है कि सत्तारूढ़ पार्टी को इसाई और मुसलमान समुदाय का समर्थन हासिल है, इनके बूते वह बेहतर हालात में है।

Top Stories