अमित शाह को मालूम होना चाहिए कि यह जनता की चुनी हुई सरकार है, बीजेपी की दया वाली नहीं- केरल सीएम

अमित शाह को मालूम होना चाहिए कि यह जनता की चुनी हुई सरकार है, बीजेपी की दया वाली नहीं- केरल सीएम
Click for full image

केरल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाले लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) सरकार को बर्खास्त करने की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह की चेतावनी के बाद मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा अध्यक्ष को यह याद रखना चाहिए कि उनकी सरकार भाजपा की दया से नहीं बल्कि राज्य के लोगों के समर्थन से सत्ता में आयी है।

विजयन ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि भाजपा अध्यक्ष ने लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गयी केरल सरकार को इसलिए चेतावनी दी है क्योंकि उसने उच्चतम न्यायालय के उस फैसले का समर्थन किया है जिसमें न्यायालय ने सबरीमला स्थित भगवान अयप्पा मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश करने की अनुमति दी थी।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने 10 से 50 वर्ष आयु वर्ग की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर रोक संबंधी सदियों पुरानी प्रथा को 4:1 के बहुमत के फैसले से समाप्त कर दिया था और सभी आयु वर्ग की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की वाम सरकार संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकारों की रक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है जिसके लिए उसे निशाना बनाया जा रहा है। विजयन ने कहा, “श्री शाह की ओर से शनिवार को कन्नूर में की गयी टिप्पणी उच्चतम न्यायालय, संविधान और हमारी न्यायिक व्यवस्था पर हमला है भाजपा अध्यक्ष ने शनिवार को कन्नूर में भाजपा जिला समिति के नये कार्यालय का उद्घाटन करने के बाद माकपा नीत केरल की वाम सरकार को सबरीमला में भगवान अयप्पा के श्रद्धालुओं पर कथित आतंक बरपाने के प्रति कड़ी चेतावनी दी।

शाह ने अपने संबोधन में कहा, “पिनारई सरकार यदि बदले की भावना से काम करना जारी रखती है तो उसे गिरा दिया जायेगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सबरीमला मुद्दे को लेकर केरल में अघोषित आपातकाल जैसी स्थितियां उत्पन्न कर दी गयी हैं।

उन्होंने निर्दोष श्रद्धालुओं और हजारों महिलाओं सहित बड़ी संख्या में लोेगों को गिरफ्तार करने की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि माकपा सत्ता और पुलिस का दुरुपयोग करके मंदिरों और उनकी परम्पराओं को नष्ट कर रही है।

Top Stories