Saturday , December 16 2017

के बी आर पार्क फायरिंग वाक़िये का मुल्ज़िम कांस्टेबल ओबलेश गिरफ़्तार

बंजाराहिलस इलाके में सनअत कार पर फायरिंग करने वाले रिज़र्व पुलिस कांस्टेबल ओबलेश को कमिशनर टास्क फ़ोर्स टीम ने करनूल के बदवार्मपेट मौज़ा मैनाज गिरफ़्तार करलिया।

बंजाराहिलस इलाके में सनअत कार पर फायरिंग करने वाले रिज़र्व पुलिस कांस्टेबल ओबलेश को कमिशनर टास्क फ़ोर्स टीम ने करनूल के बदवार्मपेट मौज़ा मैनाज गिरफ़्तार करलिया।

इस कांस्टेबल की तफ़तीश के दौरान कई सनसनीखेज़ इन्किशाफ़ात रोनुमा हुए जिस में इस बात का पता लगा कि कांस्टेबल चार पुलिस मुलाज़िमीन की मदद से एक टोली की शक्ल में संगीन वारदातें अंजाम दे रहा था।

बावर किया जाता हैके इस टोली में बाज़ ख़वातीन भी शामिल हैं। ज़राए ने बताया कि छः माह पहले कांस्टेबल ओबलेश की टोली ने रियासत के एक सीनीयर आई ए एस ओहदेदार के पोते का अग़वा किया और 10 लाख हासिल कर के उसे रिहा कर दिया था।

पुलिस ने गिरफ़्तार टोली के अरकान को हैदराबाद मुंतक़िल क्या। बताया जाता हैके ओबलेश का ताल्लुक़ आंध्र प्रदेश के ज़िला करनूल से है और वो ए पी एस पी की II बटालियन से साल 1998 से वाबस्ता हुआ। वो साल 2002 में इंसिदाद माईसट फ़ोर्स गिरेहाइंड्स में डपीवटेशन पर ताय्युनात कियागया था और वो मार्च 2014 तक इस फ़ोर्स से वाबस्ता रहा।

बादअज़ां इस का आर्म्ड रिज़र्व पुलिस (सी पी एल ) अंबरपेट में तबादला अमल में आया था। इस ने गिरे हाइंड्स में ताय्युनाती के दौरान अपने साथी की ए के 47 राइफ़ल का सरका किया था और राइफ़ल की गुमशीदगी के बाद ओबलेश और दुसरे कांस्टेबल्स की गिरे हाइंड्स पार्टी को तहवील करके अपने मुताल्लिक़ा यूनिट्स को ख़िदमात वापिस करदिए गए।

बादअज़ां उसे महिकमा आबकारी-ओ-नशा बंदी की ख़ुसूसी टास्क फ़ोर्स में ताय्युनात किया गया था और वो अपने यूनिट सी पी ईल अंबरपेट से 15 दिन की रुख़स्त हासिल की थी। फायरिंग केस की तहक़ीक़ात से जुड़े हुए ओहदेदार ने बताया कि ओबलेश पर ताय्युश ज़िंदगी गुज़ारने का आदी है और वो अपनी बुरी सऊबतों के सबब मक़रूज़ होगया था और आसानी से रुपय कमाने के लिए इस ने तावान के लिए अग़वा टोली तशकील दी थी। मंसूबा बंद तरीक़े से संगीन वारदातें अंजाम देने के लिए शहर के मज़ाफ़ाती इलाके में किराये का कमरा भी हासिल किया था जहां मग़्विया अफ़राद को महरूस रख कर तावान का मुतालिबा किया जा सके।

टास्क फ़ोर्स ओबलेश और इस के दुसरे टोली के अरकान को हैदराबाद मुंतक़िल कर के उन से तफ़तीश जारी रखे हुए है और उम्मीद
हैके कमिशनर पुलिस हैदराबाद एम महिन्द्र रेड्डी प्रेस कांफ्रेंस में तफ़सीलात का इन्किशाफ़ करेंगे।

वाज़िह रहे के बंजाराहिलस , के बी आर पार्क के क़रीब एक बंदूक़ बर्दार ने ए के 47 के ज़रीये मशहूर सनअतकार के नित्यानंद रेड्डी पर फायरिंग करदी थी जिस में वो बाल बाल बच गए थे। बंजाराहिलस पुलिस ने इस सिलसिले में मुक़द्दमा दर्ज करके गिरफ़्तारी के लिए ख़ुसूसी टीमें तशकील दी थी। बताया जाता हैके हमले में इस्तेमाल की गई ए के 47 राइफ़ल को ज़बत करने के बाद उसे रियासत के फॉरेंसिक लैब को भेजा।

TOPPOPULARRECENT