Sunday , December 17 2017

के सी आर अचानक मुहम्मद सलीम के घर पहुंच गए

तेलुगु देशम पार्टी में अपनी गिरिफ़त मनवाने के बाद मुहम्मद सलीम अब टी आर एस में भी मुस्तहकम मौक़िफ़-ओ-मुनफ़रद शिनाख़्त बनाने में कामयाब साबित होरहे हैं जिस की मिसाल कल ईद उल अज़हा के मौके पर नज़र आई जहां ईद मिलाप के लिए ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर

तेलुगु देशम पार्टी में अपनी गिरिफ़त मनवाने के बाद मुहम्मद सलीम अब टी आर एस में भी मुस्तहकम मौक़िफ़-ओ-मुनफ़रद शिनाख़्त बनाने में कामयाब साबित होरहे हैं जिस की मिसाल कल ईद उल अज़हा के मौके पर नज़र आई जहां ईद मिलाप के लिए ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर अपनी काबीना के हमराह रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल मुहम्मद सलीम के घर पहुंच गए ये बात शहर के सियासी हलक़ों में मुख़्तलिफ़ क़ियास आराईयों का सबब बन गई।

ज़ाइद अज़ एक घंटे तक मुहम्मद सलीम के घर पर राहे। इस दौरान तेलंगाना रियासत में पार्टी मौक़िफ़ और अक़लियतों की फ़लाह-ओ-बहबूद के ताल्लुक़ से काफ़ी देर तबादला-ए-ख़्याल किया गया।

ज़राए के मुताबिक़ चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना रियासत के चन्द्रशेखर राव‌ ने मुहम्मद सलीम से तबादला-ए-ख़्याल करने के बाद अपनी देरीना ख़ाहिश का उन से तज़किरा किया और उन्हें अजमेर शरीफ़ की नई ज़िम्मेदारी दी।

बताया जाता है के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने अलाहिदा रियासत की तशकील के बाद अपने अरकान के हमराह दरगाह हज़रत ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिशती की ज़यारत का इरादा किया था और मन्नत पूरी होने के बाद वो एक ख़ुसूसी ट्रेन के ज़रीये अजमेर शरीफ़ में हाज़िरी की ख़ाहिश रखते हैं

TOPPOPULARRECENT