के सी आर का यौमे आज़ादी ख़िताब ख़ुद अपनी नाकामियों का एतेराफ़

के सी आर का यौमे आज़ादी ख़िताब ख़ुद अपनी नाकामियों का एतेराफ़
Click for full image

हैदराबाद 18 अगस्त: क़ाइद अप्पोज़ीशन तेलंगाना क़ानूनसाज़ कौंसिल मुहम्मद अली शब्बीर ने यौमे आज़ादी ख़िताब में चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ की तरफ से 14 माह के दौरे इक्तदार पर 14 मिनट भी तक़रीर ना करने पर तशवीश का इज़हार करते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने ख़ुद अपनी नाकामी का सबूत पेश किया है।

किसानों के मसाइल पर ग़ौर करने के लिए असेंबली के दोनों एवानों का ख़ुसूसी मीटिंग तलब करने का हुकूमत से मुतालिबा क्या। सी एलपी ऑफ़िस असेंबली में प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए मुहम्मद अली शब्बीर ने कहा कि क़िला गोलकेंडा से जशन-ए-आज़ादी के ख़ताब में चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना ने अहम मसाइल को यकसर नजरअंदाज़ कर दिया और 14 मिनट में अपनी तक़रीर ख़त्म कर दी।

ये इस बात का सबूत हैके हुकूमत ने तेलंगाना की तरक़्क़ी और ग़रीब अवाम की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए कोई काम नहीं किया है। चीफ़ मिनिस्टर ने अपने ख़िताब में टी आर एस के मंशूर के ज़रीये अवाम से जो वादे किए थे इस पर अमल आवरी की कोई वज़ाहत नहीं की।

तेलंगाना में 1000 किसानों ने ख़ुदकुशी की है 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात डबल बेडरूम फ़्लैट केजी ता पी जी मुफ़्त तालीम के अलावा दूसरे वादों को नजरअंदाज़ कर दिया है।

मुहम्मद अली शब्बीर ने कचरे की सफ़ाई के लिए चीफ़ मिनिस्टर की तरफ से जाइज़ मीटिंग तलब करने पर भी सख़्त एतेराज़ किया।

Top Stories