कैराना उपचुनाव: देवबंदी उलेमा ने भाजपा को वोट ना देने की अपील की

कैराना उपचुनाव: देवबंदी उलेमा ने भाजपा को वोट ना देने की अपील की
Click for full image

कैराना और नूरपुर में हो रहे लोकसभा के उपचुनाव के मतदान को लेकर जहां अब कुछ ही दिन शेष रहे गए हैं, वहीं दूसरी ओर इस चुनाव से सियासी पारा भी बढ़ती गर्मी की तरह बढ़ता जा रहा है। कैराना उप चुनाव को लेकर  देवबंद से भाजपा के खिलाफ सियासी स्वर उभरे हैं। यह स्वर देवबंदी उलेमा के हैं, जो सपा रालोद गठबंधन के पक्ष में आए हैं और भाजपा प्रत्याशी वोट न देने की बात कही गई है। उलेमा ने साफ कहा कि मोदी सरकार से पूरा देश और सियासी जमात परेशान है। इसलिए इस उपचुनाव मे भाजपा के पक्ष में कतई मतदान न किया जाए।

देवबंदी उलेमा, जमीयत उलेमा ए हिन्द के कोषाध्यक्ष मौलाना हसीब सिद्दकी ने कैराना उप चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से उम्मीद नहीं की जा सकती है कि वह मुल्क के सभी लोगों के फायदे की बात करें। इसलिए इस चुनाव में जो गठबंधन तैयार हुआ और एक प्लेटफार्म बनाया है, वह एक अच्छी शुरूआत है। उन्होंने कहा कि जहां जहां भी चुनाव हो रहे हैं या आगामी दिनों में होने हैं, वहां के लोगों को चाहिए कि अपना वोट का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें ताकि भाजपा को फिर से खड़ा होने का मौका न मिले।

मौलाना हसीब सिद्दकी ने कहा कि उन्होंने स्व. बाबू हुकम सिंह एक अच्छी शख्सियत थे, वह कांग्रेस में भी रहे है। लेकिन सियासत में आदमी का कोई मजहब नहीं होता है और वह चलती गाड़ी में बैठता है। इसलिए हुकम सिंह भी समय बदलने के साथ ही उसमें बैठ गए, लेकिन उनका पूरा परिवार कांग्रेसी है। उन्होंने कहा कि आज उनकी बेटी मृगांका सिंह कैराना सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ रही है। लेकिन लोगों का ध्यान रखना चाहिए कि वह भाजपा की प्रत्याशी है, इसलिए भाजपा को अगर हराना है तो मुसलमानों को गठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम हसन को ही वोट देना चाहिए। कहा कि रमजान का महीना चल रहा है, भीषण गर्मी भी पड़ रही है, लेकिन इसके बावजूद मुसलमान ज्यादा से ज्यादा वोट डालने के लिए अपने घरों से बाहर निकले।

Top Stories