कैलाश विजयवर्गीय बोले- नशा इतना भी न हो कि मोदी जी जैसे शादी ही न करें!

कैलाश विजयवर्गीय बोले- नशा इतना भी न हो कि मोदी जी जैसे शादी ही न करें!

अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले और विवादों को जन्म देने वाले बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने फिर एक ऐसी बात कह दी जिसे लेकर विवाद शुरू हो गया है. मध्यप्रदेश के इंदौर में नशे के खिलाफ मैराथन दौड़ के बाद विजयवर्गीय  ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर एक ऐसी बात कही जिससे विवाद पैदा हो गया. विजयवर्गीय ने कहा कि नशे में रहना अच्छी बात है लेकिन यह नशा काम और देशभक्ति का होना चाहिए. इसके आगे उन्होंने कहा कि ‘नशा इतना भी न हो कि मोदी जी जैसे शादी ही ना करें.’

इस बयान को पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बयान से तूल मिला गया. दिग्विजय सिंह ने कहा शादी तो की है, लेकिन छोड़ कर चले गए.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने एक सनसनीखेज दावा किया कि उनके घर के निर्माण कार्य में संदिग्ध बांग्लादेशी नागरिक मजदूर के रूप में काम कर रहे थे. विजयवर्गीय ने एक सामाजिक संगठन के कार्यक्रम में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) की जमकर पैरवी करते हुए यह दावा किया था. उन्होंने कहा कि उनके घर में नए कमरे के निर्माण कार्य के दौरान उन्हें छह-सात मजदूरों के खान-पान का तरीका थोड़ा अजीब लगा, क्योंकि वे भोजन में केवल पोहा खा रहे थे. विजयवर्गीय ने कहा कि इन मजदूरों और भवन निर्माण ठेकेदार के सुपरवाइजर से बातचीत के बाद उन्हें संदेह हुआ कि ये श्रमिक बांग्लादेश के रहने वाले हैं.

 

संवाददाताओं ने जब विजयवर्गीय से इन संदिग्ध लोगों के बारे में सवाल किए, तो उन्होंने कहा, “मुझे शंका थी कि ये मजदूर बांग्लादेश के रहने वाले हैं. मुझे संदेह होने के दूसरे ही दिन उन्होंने मेरे घर काम करना बंद कर दिया था.” उन्होंने कहा, “मैंने पुलिस के सामने इस मामले में फिलहाल शिकायत दर्ज नहीं कराई है. मैंने तो केवल लोगों को सचेत करने के लिए उन मजदूरों का जिक्र किया था.”

Top Stories