Sunday , August 19 2018

कोबरापोस्ट के स्टिंग से बेनकाब हुए कई बड़े मीडिया समूह, हिंदुत्व को प्रमोट करने के लिए पैसे लेने को तैयार

इंडिपेंडेंट मीडिया हाउस कोबरापोस्ट ने नए स्टिंग वीडियो जारी कर हड़कंप मचा दी है। कोबरापोस्ट ने ऑपरेशन 136 का दूसरा पार्ट निकालकर दावा किया है कि देश के शीर्ष मीडिया घराने हिंदुत्व के एजेंडे को प्रमोट करने के एवज में पैसे लेने को तैयार थे। यही नहीं कोबरापोस्ट की ओर से जारी किए गए नए वीडियो में मीडिया समूहों पर आरोप लगाया गया है कि उन्होने विपक्षी नेताओं को बदनाम करने का खास अभियान चलाया।

ऑपरेशन 136 पार्ट टू में जिन मीडिया हाउस के शीर्ष अधिकारियों को ऑन रिकॉर्ड कैमरे में पैसे के ऐवज में हिंदुत्व के एजेंडे को स्वीकार धरे गए हैं। उनमें ये नाम शामिल हैं-
टाइम्स ग्रुप
हिंदुस्तान टाइम्स
दैनिक जागरण
इंडिया टुडे
एबीपी न्यूज
द न्यू इंडियन एक्सप्रेस
नेटवर्क 18
ओपेन मैग्जीन
इंडिया वॉयस
जी मीडिया ग्रुप
स्वराज एक्सप्रेस
सन ग्रुप (रेड एफएम, अखबार)
रेडियो वन
बिग एफएम
स्टार इंडिया
दैनिक संवाद
के न्यूज
एबीएन आंध्रा ज्योति
एमवीटीवी
बर्तमान (बांग्ला समाचार पत्र)
सुवर्णा न्यूज (कन्नड समाचार चैनल)

कोबरापोस्ट के मुताबिक गुप्त कैमरों से पूरे अंडर कवर ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि मीडिया हाउस पैसे के बदले सांप्रदायिक और ध्रुवीकरण एंगल के तौर पर खबरों को पब्लिश करने के लिए तैयार हो गए जिससे चुनावी फायदा दिलाया जा सके।

पेटीएम का भी नाम शामिल
मोबाइल पेमेंट एप और पेमेंट बैंक पेटीएम का भी नाम है। कोबरा पोस्ट स्टिंग में पेटीएम के एक अधिकारी के ये कहते दिखाया गया है कि उच्च सरकारी सूत्रों के कहने पर एक राजनीतिक दल को पेटीएम का डाटा दिया गया।

दैनिक भाष्कर का भी किया गया स्टिंग ऑपरेशन
बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने गुरुवार 24 मई को कोबरापोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन की प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोक लगा दी थी। दैनिक भास्कर मीडिया ग्रुप ने दिल्ली हाईकोर्ट में अर्जी डालकर इस स्क्रीनिंग पर रोक लगाने की मांग की थी। भास्कर की दलील थी कि कोबरा पोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन की डाक्युमेंट्री से उनकी प्रतिष्ठा को जो नुकसान होगा उसकी भरपाई मुमकिन नहीं होगी। अहम बात ये है कि कोबरापोस्ट ने कहा है कि दैनिक भास्कर ग्रुप पर भी ये स्टिंग ऑपरेशन किया गया।

दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देगा कोबरापोस्ट

कोबरापोस्ट वेबसाइट के मुताबिक दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर अमल किया गया है। उनके मुताबिक दैनिक भास्कर से जुड़ी जांच को फिलहाल रिलीज नहीं किया जा रहा है। कोबरापोस्ट के मुताबिक दिल्ली हाईकोर्ट में उनका पक्ष सुने बिना ही आदेश दे दिया गया और वो इसे चुनौती देगा।

ऑपरेशन 136 पार्ट- 1 में इन चैनलों का हुआ स्टिंग

साधना प्राइम न्यूज
यूएनआई
पंजाब केसरी
समाचार प्लस
9एक्स टशन
आज हिंदी दैनिक
स्वतंत्र भारत
इंडिया वाच
एचएनएन 24*7
स्कूप व्हूप
रेडिफ डॉट कॉम
अमर उजाला
डीएनए
सब टीवी
हिंदी खबर
दैनिक जागरण

 

TOPPOPULARRECENT