Tuesday , December 12 2017

कोयला एस्काम पर वज़ीर आज़म जवाबदेही से क़ासिर (असमर्थ)

कोयला एस्काम मुआमला में सफ़ाई पेश करने के बजाय वज़ीर आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह अपने ओहदे से मुस्ताफ़ी होने का ऐलान करते हुए तहकीकात का सामना करने तय्यार रहें ।तेलगू देशम रुकन पोलिट ब्यूरो मिस्टर के इरम नायडू ने आज प्रेस कान्फ़्र

कोयला एस्काम मुआमला में सफ़ाई पेश करने के बजाय वज़ीर आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह अपने ओहदे से मुस्ताफ़ी होने का ऐलान करते हुए तहकीकात का सामना करने तय्यार रहें ।तेलगू देशम रुकन पोलिट ब्यूरो मिस्टर के इरम नायडू ने आज प्रेस कान्फ़्रैंस के दौरान ये बात कही ।

उन्हों ने वज़ीरआज़म से इस्तीफ़ा का मुतालिबा करते हुए कहा कि वज़ीर आज़म क़ौम को हक़ायक़ से वाक़िफ़ करवाने की कोशिश के बजाय अख़लाक़ी ज़िम्मेदारी क़बूल करते हुए क़ौम को इस बात का पैग़ाम दें कि बदउनवानीयों के इल्ज़ामात में तहकीकात का सामना करने तय्यार हैं ।

मिस्टर इरम नायडू ने इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस की नज़र में ऐसा महसूस हो रहा है कि मुल्क के असासा जात के निगरान इदारे सी ए जी की कोई वक़ात नहीं है ।

उन्हों ने वज़ीर आज़म से इस्तिफ़सार (ख्वाहिश) किया कि वज़ीर आज़म क़ौम को सिर्फ इतना बताएं कि इन के इल्म में लाए बगैर इतनी बड़ी मुआमलतें कैसे यक़ीनी बनाई गईं ।

रुकन पोलिट ब्यूरो तेलगू देशम पार्टी ने कांग्रेस के मर्कज़ी (केन्द्रीय) क़ाइदीन को मश्वरा दिया कि वो बेशरमी का मुज़ाहरा करने के बजाय वज़ीर आज़म को ओहदे से मुस्ताफ़ी होने की तरग़ीब दें

ताकि अवाम को हक़ायक़ से वाक़िफ़ करवाया जा सके और उन का ओहदा तहकीकात के अमल में रुकावट साबित ना होने पाए

चूँकि वज़ीर आज़म का ओहदा बदउनवानीयों बे क़ाईदगियों की तहकीकात के मुआमलतों की शफ़्फ़ाफ़ियत पर असरअंदाज़ होने के क़ुवी इमकानात होते हैं ।

TOPPOPULARRECENT