कोरोना संकट: हैदराबाद में ऑक्सीजन की कालाबाजारी, इतने में बिक रहे हैं सिलेंडर

कोरोना संकट: हैदराबाद में ऑक्सीजन की कालाबाजारी, इतने में बिक रहे हैं सिलेंडर

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) की कालाबाजारी (Black Marketing) शुरू हो गई है. हैदराबाद में कोरोना के मरीज़ ये सिलेंडर 1 लाख रुपये में खरीद रहे हैं. ये वो लोग हैं जो क्वारंटाइन के चलते घर में रह रहे हैं. हैदराबाद की पुलिस ने पिछले दो दिनों में कई ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है जो बिना लाइसेंस के ऑक्सीजन बेच रहे थे.

पुलिस के किया गिरफ्तार
इस सिलसिले में रविवार को पुलिस ने शाइक अकबर नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया. आरोप है कि वो बिना किसी लाइसेंस के ऑक्सीजन और गैस सिलेंडर बेच रहा था. पुलिस ने इसके यहां से ऑक्सीजन के 19 सिलेंडर जब्त किए. ये कोई पहली बार नहीं है जब पुलिस ने बिना लाइसेंस के सिलेंडर बेचने के लिए व्यापारियों के खिलाफ केस दर्ज किया हो. शनिवार को भी शहर के सेवन टॉम्ब्स इलाके से लगभग 29 ऑक्सीजन सिलेंडर जब्त किए गए थे.

ऑक्सीजन सिंलेंडर की भारी मांग


बता दें कि तेलंगाना में कोरोना के 60 फीसदी से ज्यादा केस हैदराबाद से ही आ रहे हैं. पुलिस के मुताबिक जो लोग घर में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद क्वारंटाइन हैं वो ऑक्सीजन सिंलेंडर की मांग कर रहे हैं. सरकारी डॉक्टरों ने भी कहा है कि शहर में ऑक्सीजन सिलेंडर की भारी कमी है. जबकि सरकार के मुताबिक हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों के लिए 3537 ऑक्सीसन वाले बेड हैं, जिसमें से 2926 खाली हैं.

बढ़ाई जा रही है बेड की संख्या
देश भर में ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड की संख्या भी लगातार बढ़ाई जा रही है. 27 जून तक देश में 51321 ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड तैयार थे. मंत्रियों की बैठक में कहा गया था कि 9 जुलाई तक इसकी संख्या 1.42 लाख कर दी जाएगी. बता दें कि खून में 92-96% से ऑक्सीजन लेवल नीचे जाने पर डॉक्टर सतर्क हो जाते हैं. मरीज को पेट के बल लेटा दिया जाता है जिससे कि ऑक्सीजन की मात्रा बढ़े.

Top Stories