Wednesday , December 13 2017

कोर्ट से प्रशांत भूषण ने कहा- जमानत रद्द नहीं की गई तो शहाबुद्दीन समाज के लिए गंभीर खतरा है

दिल्ली। आरजेडी के पूर्व नेता शहाबुद्दीन को हत्या के एक मामले में मिली जमानत को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में अब 28 सितंबर को सुनवाई होगी। वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने कोर्ट से कहा कि शहाबुद्दीन के खिलाफ 45 से अधिक मामले हैं, उनमें से 9 हत्या के हैं। उन्होंने कहा कि अगर शहाबुद्दीन की जमानत रद्द नहीं की गई तो वह समाज के लिए एक गंभीर खतरा है।

इसी बीच शहाबुद्दीन के वकील ने कहा कि इस मामले में उनको अपना पक्ष रखने के लिए और समय की जरूरत है। मालूम हो कि सीवान के रहने वाले राजीव रौशन के पिता चंदा बाबू के हलफनामा पर वरीय अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। इस पर पिछले सोमवार को सुनवाई हुई थी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन से 26 सितम्बर को अपना पक्ष रखने के लिए कहा था।

TOPPOPULARRECENT