Friday , December 15 2017

कोलंबिया और फ़ार्क गुट के बीच हुआ ऐतिहासिक शांति समझौता

4bk98f8669b499eqi1_800c450कोलंबियाई सरकार और वामपंथी फ़ार्क विद्रोहियों के बीच ऐतिहासिक शांति समझौता हो गया है। कार्टिजेना में, फ़ार्क विद्रोहियों के नेता तिमान्शेको और कोलंबिया के राष्ट्रपति मैनुअल सांतोस ने समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस ऐतिहासिक शांति समझौते के बाद कोलंबिया में 52 साल से चला आ रहा संघर्ष समाप्त हो गया है। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के अलावा अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी, क्यूबा के राष्ट्रपति राओल कास्त्रो के अलावा लैटिन अमरीकी देशों के कई राष्ट्राध्यक्षों ने भाग लिया। इसी के साथ ही यूरोपीय संघ ने फ़ार्क विद्रोहियों को चरमपंथी संगठनों की अपनी सूची से हटा दिया है। कोलंम्बिया के राष्ट्रपति मैनुअल सांतोस ने इस मौके पर कहा, मुझे आशा है कि यह समझौता एक नए युग की सूत्रपात करेगा। शांति समझौता लागू होने के बाद यूरोपीय संघ कोलंबिया के पुर्निर्माण में मदद कर सकेगा। कोलंबिया में अगले साल जनमत संग्रह होना है। उसके बाद कोलंबियाई जनता तय करेगी कि इस शांति समझौते को स्वीकार किया जाए या नहीं। गौरतलब है कि 52 साल तक चले गृहयुद्ध में ढ़ाई लाख से अधिक लोग मारे जा चुके हैं और  लगभग 60 लाख के आसपास लोग विस्थापित हुए। क्यूबा ने चार साल तक कोलम्बिया की सरकार और फ़ार्क विद्रोहियों के बीच वार्ता की मेज़बानी की है। शांति समझौते के अंतर्गत फ़ार्क के साढ़े सात हज़ार लड़ाके अपने पहाड़ी और जंगली ठिकानों से निकल जाएंगे और संयुक्त राष्ट्र संघ की निगरानी में आत्मसमर्पण करेंगे।

TOPPOPULARRECENT