Tuesday , January 16 2018

कोलकता के दवाख़ाना में दो दिन में 18 शेर ख़ार बच्चे फ़ौत

डाक्टर पर लापरवाही का इल्ज़ाम । चीफ़ मिनिस्टर की जानिब से तहक़ीक़ात का ऐलान । दो रुकनी कमेटी की तशकील

डाक्टर पर लापरवाही का इल्ज़ाम । चीफ़ मिनिस्टर की जानिब से तहक़ीक़ात का ऐलान । दो रुकनी कमेटी की तशकील
कोलकता 30 जून ( पी टी आई । एजैंसीज़ ) मग़रिबी बंगाल के दार-उल-हकूमत कोलकता के बी सी राय हॉस्पिटल में एक इंतिहाई हैरतअंगेज़ मुआमला में कम अज़ कम 18 शेर ख़ार बच्चे फ़ौत होगए । ये अम्वात महिज़ दो दिन के दौरान वाक़्य हुई हैं। चीफ़ मिनिस्टर के दफ़्तर से फ़ौत होने वाले बच्चों के ताल्लुक़ से आदाद-ओ-शुमार जारी किए गए हैं। बी सी राय हॉस्पिटल में गुज़शता दो दिनों से बच्चों के फ़ौत होने का सिलसिला जारी थी और शायद ये मुआमला मंज़रे आम पर भी नहीं आता ताहम आज सुबह एक नौ माह के शेर ख़ार लड़के आर्यन ग़ाज़ी की मौत ने सारे मुआमला को मंज़रे आम पर लादया । आर्यन ग़ाज़ी की मौत के बाद इस के रिश्तेदारों ने दवाख़ाना में हंगामा आराई और तोड़ फोड़ करते हुए डाक्टर को हमला का निशाना बनाया । इन रिश्तेदारों का इल्ज़ाम था कि डॉक्टर्स की लापरवाही और तग़ाफ़ुल की वजह से उन के बच्चे की मौत वाक़्य हुई है । आर्यन ग़ाज़ी के वालिद हन्नान ग़ाज़ी ने कहा कि उन्हों ने अपने बच्चे का ईलाज करने केलिए डॉक्टर्स से आजिज़ी और मिन्नत समाजत की लेकिन डॉक्टर्स उन की कोई बात सुनने को तैय्यार नहीं थे । वो रोने लगे थे और उन का बच्चा फ़ौत होगया । डॉक्टर्स ने ताहम बच्चे के ईलाज में किसी तरह की लापरवाही या तग़ाफ़ुल का इल्ज़ाम मुस्तर्द करदिया है । बी सी राय हॉस्पिटल के सपरनटनडनट डाक्टर पाल ने पी टी आई को बताया कि जो बच्चे फ़ौत हुए हैं वो या तो क़बल अज़ वक़्त पैदा होगए थे या फिर उन्हीं Septicemia की शिकायत लाहक़ थी । होसकता है कि ये बच्चे पैदाइश के वक़्त मामूल से कम वज़न के भी रहे हैं। हैरतअंगेज़ बात ये है कि बी सी राय हॉस्पिटल को सारे मशरिक़ी ख़ित्ता में बच्चों के ईलाज का एक बेहतरीन मर्कज़ समझा जाता है । चीफ़ मिनिस्टर मग़रिबी बंगाल ममता बनर्जी ने इस वाक़िया की तहक़ीक़ात का हुक्म देदिया है । चीफ़ मिनिस्टर के पास ही वज़ारत-ए-सेहत का क़लमदान भी है । चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि उन्हें इलम हुआ है कि दवाख़ाना में बच्चों को इंतिहाई आख़िरी मरहला मैं रुजू किया जा रहा है और अम्वात की वजह वबाई अमराज़ नहीं हैं । उन्हों ने तहक़ीक़ात का हुक्म देदिया है और ओहदेदारों से कहा है कि वो उन्हें रिपोर्ट पेश करें। यू एन आई के बमूजब हुकूमत ने शहर के एक बावक़ार समझे जाने वाले इस दवाख़ाना मैं अम्वात की तहक़ीक़ात केलिए दो रुकनी तहक़ीक़ाती कमेटी तशकील दी है और इस कमेटी को अंदरून 24 घंटे रिपोर्ट पेश करने की हिदायत दी गई है । इस कमेटी में नामवर फ़ज़ीशनस डाक्टर मिलाए दास गुप्ता और डाक्टर बैरन राय शामिल हैं। ये दोनों बच्चों की अम्वात की हर पहलू से तहक़ीक़ात करेंगे । चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि उन्हों ने कहा कि तहक़ीक़ात में अगर डॉक्टर्स या दीगर स्टाफ़ की जानिब से किसी भी तरह की लापरवाही का पता चलता है तो हुकूमत किसी को भी नहीं बख़्शेगी और उन के ख़िलाफ़ सख़्त तरीन कार्रवाई की जाएगी। उन्हों ने कहा कि कमेटी को कल तक रिपोर्ट पेश करने की हिदायत दी गई है । उन्हों ने ताहम इस वाक़िया को इंतिहाई अफ़सोसनाक और तकलीफ़देह भी क़रार दिया है ।

TOPPOPULARRECENT