Thursday , December 14 2017

कोलकता में साईकलों के इस्तिमाल पर पाबंदी की मुख़ालिफ़त

कोलकता में साईकल के इस्तिमाल पर पाबंदी की शदीद मुख़ालिफ़त की जा रही है जहां मुख़्तलिफ़ सियासी जमातों और एन जी औज़ के अरकान ने उसे इंतिहाई ग़लत क़रार देते हुए माहौलियात के लिए ख़तरा क़रार दिया जबकि दूसरी तरफ़ साईकल के कारोबार से वाबस्ता अफ

कोलकता में साईकल के इस्तिमाल पर पाबंदी की शदीद मुख़ालिफ़त की जा रही है जहां मुख़्तलिफ़ सियासी जमातों और एन जी औज़ के अरकान ने उसे इंतिहाई ग़लत क़रार देते हुए माहौलियात के लिए ख़तरा क़रार दिया जबकि दूसरी तरफ़ साईकल के कारोबार से वाबस्ता अफ़राद की रोज़ी रोटी भी ख़तरे में पड़ जाएगी।

एक ऐसे वक़्त में जब कोलकता अपनी हैवी ट्रैफ़िक के लिए बदनाम है, साईकलों के इस्तिमाल पर पाबंदी से ट्रैफ़िक में मज़ीद इज़ाफ़ा होगा। नई दिल्ली की सैंटर फ़ार साईंस ऐंड इन्वाइरन्मेंट से वाबस्ता अनोमीता राय चौधरी ने कहा कि हमें तमाम ख़ानगी मोटर गाडियों की हिम्मतअफ़्ज़ाई ना करते हुए पब्लिक ट्रांसपोर्ट निज़ाम की हौसलाअफ़्ज़ाई करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि अगर कोलकता में साईकल पर इमतिना आइद किया जा रहा है तो दुनिया के दीगर ममालिक की तरह सायकलिंग और पैदल राहरोओ के लिए अलाहदा राहदारयां तामीर की जाएं। याद रहे कि मग़रिबी बंगाल ट्रैफ़िक रैगूलेशन ऐक्ट 1965 के मुताबिक़ कोलकता पुलिस ने 174 मुक़ामात पर साईकल के इस्तिमाल पर माह अगस्ट से इमतिना आइद कर दिया है जिन में साईकलें, साईकल नैन, बेकरी बैन और हाथ गाड़ियां शामिल हैं।

इसके बरअक्स मुंबई जैसे ग़नजान आबादी वाले शहर में हुकूमत साईकल के इस्तिमाल को फ़रोग़ देने कोशां है ताकि मुलाज़मीन भी साईकल सवारी करते हुए दफ़ातिर को पहुँचें। 2011 की मर्दुमशुमारी के मुताबिक़ कोलकता में साईकलों की तादाद कारों की तादाद से कम-ओ-बेश दोगुनी बताई गई है।

TOPPOPULARRECENT