कोलकाता में अमित शाह के रोड शो में बवाल, हुई पत्थरबाजी, गाड़ियों में भी लगाई आग

कोलकाता में अमित शाह के रोड शो में बवाल, हुई पत्थरबाजी, गाड़ियों में भी लगाई आग

कोलकाता: लोकसभा चुनाव अपने आखिरी चरण के मतदान तक पहुंच गए हैं लेकिन तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच टकराव का माहौल शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा है. ऐसा ही कुछ देखने को मिला कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली और रोड शो में.

शाह की रैली के बाद रोड शो में जमकर बवाल मचा. टीएमसी कार्यकर्ताओं ने रोड शो के दौरान काले झंडे दिखाए. जिसके बाद मचे हंगामे में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई. इसके बाद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान पत्थरबाजी भी हुई.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई झड़पों में विद्यासागर कॉलेज में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को भी तोड़ दिया गया.

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत में बताया, “मैं उसी गाड़ी में था, अमित शाह जी और बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष भी हमारे साथ थे. तृणमूल कांग्रेस की जैसी संस्कृति है वो पूरी तरह से डर गए थे. आज जो जन सैलाब कोलकाता में उमड़ा उससे टीएमसी के लोग बौखला गए है.”

उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी के भीतर तृणमूल कांग्रेस के कुछ गुंडे होंगे जो कि पत्थर लेकर खड़े थे. उन लोगों ने पत्थरबाजी करने की कोशिश की. जैसे ही रोड शो विद्यासागर कॉलेज के पास वहां कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाने की कोशिश की. हॉस्टल के भीतर से भी कुछ पत्थर फेंके गए. हम लोगों को जहां तक परमिशन दी गई थी हम वहीं तक जा रहे थे. उसी में तृणमूल कांग्रेस के कुछ 10-12 लोगों ने पत्थर फेंकने शुरु कर किए. ऐसा उनको नहीं करना चाहिए.

रैली के पहले भी मचा था बवाल, उतारे गए थे पोस्टर

मालूम हो कि इससे पहले बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर शाह की रैली के पहले के मचे बवाल के बारे में जानकारी दी थी. उन्होंने ट्विटर पर कहा, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की कोलकाता रैली को फेल करने के लिए ममता सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही है.

उन्होंने आगे बताया कि स्थानीय प्रशासन ने शाह की रैली के लिए स्वागत मंच नहीं लगाने दिए और सड़क के दोनों और लगाए गुब्बारे और होर्डिंग भी केएमसी ने निकाल दिए. विजयवर्गीय ने इसे नागवार हरकत बताते हुए कहा कि यह ठीक नहीं है. उन्होंने राज्य की मुख्यमंत्री को चेतावनी देते हुए कहा कि ये राजनीतिक वैमनस्यता बहुत भारी पड़ेगी दीदी.

पोस्टर निकाले जाने से नाराज बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताते हुए कहा कि बंगाल में बीजेपी के खिलाफ सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया जा रहा है. मालूम हो कि इसिसे पहले भी शाह को बंगाल में जाने से रोका जा चुका है. जाधवपुर लोकसभा सीट के बरूईपुर में उनके हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी गई थी.

Top Stories