Thursday , December 14 2017

कोहीर में सेहत आम्मा मुतास्सिर होने के इमकानात

कोहीर 06 जुलाई: कोहीर मंडल मुस्तक़र में सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात की वजह से अवामी सेहत मुतास्सिर होने के इमकानात पैदा होगए हैं।

कोहीर 06 जुलाई: कोहीर मंडल मुस्तक़र में सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात की वजह से अवामी सेहत मुतास्सिर होने के इमकानात पैदा होगए हैं।

जिस के लिए कोहीर की अवाम परेशान हाल हैं। एसा महसूस होरहा हैके कोहीर में ग्राम पंचायत के तहत सफ़ाई का काम करने वाला अमला है या नहीं।

कोहीर एक ग़नजान आबादी वाला शहर है जहां पर तक़रीबन 20 हज़ार से ज़ाइद आबादी ज़िंदगी बसर करती है लेकिन हर मुहल्ला हर घर में कचरे का ढेर लगा हुआ है।

मोरियों में निकासी ना होने की वजह से गंदा पानी जमा होगया है ।सड़कों पर झाड़ू आठ दिन में दो या तीन मर्तबा होरही है जिस की वजह से रोज़ बरोज़ मच्छरों की अफ़्ज़ाइश में इज़ाफ़ा होता जा रहा है जिस से डेंगू, मलेरीया जैसे अमराज़ फूट पड़ने का ख़तरा बढ़ गया है।

दूसरी तरफ रमज़ान उल-मुबारक की आमद के लिए अब सिर्फ़ पाँच दिन बाक़ी रह गए हैं। रात और दिन के औक़ात में अवामी चहल पहल में इज़ाफ़ा होजाता है।

कोहीर मुस्तक़र में बर्क़ी पेलस तो हैं लेकिन उन पर लाइट्स ग़ायब हैं उनकी तरफ़ देखने वाला कोई नहीं है। सहर में उठने वालों को आवारा कुत्तों का ख़ौफ़ लगा हुआ हैके कहीं रात के अंधेरे में कुत्ते हमला ना करदें।

कोहीर मंडल मुस्तक़र की अवाम ने ज़िला पंचायत ऑफीसर से ख़ाहिश की हैके वो कोहीर में फ़ौरी सफ़ाई के इंतेज़ामात के अलावा स्टरीट लाइट्स का इंतेज़ाम करें।

TOPPOPULARRECENT