Friday , February 23 2018

क्या जसवंत सिंह या प्रकाश सिंह बादल नायब सदर जमहूरीया होंगे ?

जसवंत सिंह ने आज समाजवादी पार्टी सरबराह मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात की जिस पर ये क़ियास आराईयां की जा रही हैं कि बी जे पी क़ाइद नायब सदर जमहूरीया के ओहदा के लिए राह हमवार कर रहे हैं । जिस वक़्त आज सुबह काले धन के मुद्दा पर यादव ने अपनी

जसवंत सिंह ने आज समाजवादी पार्टी सरबराह मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात की जिस पर ये क़ियास आराईयां की जा रही हैं कि बी जे पी क़ाइद नायब सदर जमहूरीया के ओहदा के लिए राह हमवार कर रहे हैं । जिस वक़्त आज सुबह काले धन के मुद्दा पर यादव ने अपनी रिहायश गाह पर बाबा रामदेव से मुलाक़ात की थी ,बिलकुल उसी वक़्त जसवंत सिंह भी वहां पहुंच गए।

ऐसा बावर (यकीन) किया जा रहा है कि तीनों ने बैरून-ए-मुमालिक हिंदूस्तानी के काले धन पर तफ़सीली तबादले ख़्याल किया । इस मुआमला को बी जे पी की जानिब से लोक सभा में जसवंत सिंह ने ही उठाया था लेकिन दूसरी तरफ़ जसवंत सिंह की मुलायम सिंह से मुलाक़ात ने इन क़ियास आराईयों को भी जन्म दिया कि नायब सदर जमहूरीया ( राष्ट्रपति) के ओहदा पर वो ख़ुद को फ़ाइज़ ( पहुँचने वाले ) देखना चाहते हैं और शायद इसीलिए अभी से कोशिश का आग़ाज़ ( शुरूआत) हो चुका है ।

यहां इस बात का तज़किरा बेजा ( नमुनासिब) ना होगा कि बी जे पी और एन डी ए सदर-ओ-नायब सदर जमहूरीया के इंतिख़ाब ( चुनाव) पर अब तक अपना कोई मौक़िफ़ ज़ाहिर नहीं किया है । मुलाक़ात के बाद मुलायम सिंह ,जसवंत सिंह को अपनी रिहायश गाह के दरवाज़े तक छोड़ने आए और वहां पर भी दोनों क़ाइदीन ने खुसर फुसर वाले अंदाज़ में कुछ देर तक बातचीत की ।

दरीं असना ज़राए ( सूत्रों) ने बताया कि जसवंत सिंह दरअसल नायब सदर जमहूरीया (उप राष्ट्रपती/Vice-President) के ओहदा के लिए राह हमवारा कर रहे हैं क्योंकि वो नायब सदर जमहूरीया के जलाल अल क़द्र ओहदा पर फ़ाइज़ होने की मुतमन्नी ( इच्छुक़) हैं और इस मौज़ू पर उन्होंने पार्टी के अंदर और पार्टी से बाहर भी कई बार तफ़सीली बातचीत की है ।

TOPPOPULARRECENT