Saturday , December 16 2017

क्या पाकिस्तान बेहद खतरनाक दौर से गुज़र रहा है?

पाकिस्तान को इस बुरे वक्त में चीन और इस्लामिक वर्ल्ड से मदद लेनी चाहिए, लेकिन ज्यादा निर्भरता खुद के सुरक्षा तैयारियों पर करना चाहिए. पाकिस्तान को अच्छे और बुरे आतंकियों के बीच भेद खत्म करने की नीति अपनानी चाहिए. लेख में यह आशंका जतायी गयी है कि भारत एलओसी पार कर पाकिस्तान पर हमला बोल सकता है.
उरी हमले को लेकर पाकिस्तान भयानक दबाव के दौर से गुजर रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ इन दिनों अमेरिका दौरे में हैं. कल यूएन में वो कश्मीर घाटी में बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद भड़की हिंसा से पैदा तनाव का मुद्दा उठाने वाले हैं लेकिन उरी में आर्मी कैंप में हमले के बाद पाकिस्तान एक बार फिर बेनकाब हो गया है. पाकिस्तान बैकफुट पर आ गया है. वहां के प्रमुख अखबार डॉन की वेबसाइट में आज तीन पूर्व विदेश सचिव समेत पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार का लेख प्रकाशित हुआ है.
इस लेख में विस्तार से बताया गया है कि पाकिस्तान कैसे बेहद खतरनाक दौर से गुजर रहा है. लेख में लिखा गया है कि पाकिस्तान भारत और अफगानिस्तान की साझा धमकी का सामना कर रहा है. वाशिंगटन में पाकिस्तान के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है. डॉन में प्रकाशित लेख में यह भी कहा गया है कि मोदी सरकार खास किस्म का कैंपेन चला रही है. इस कैंपेन में पूरी दुनिया को यह बताया जा रहा है कि कश्मीर घाटी में प्रदर्शन पाकिस्तान के आतंकवाद की नीति से प्रेरित है. पाकिस्तान को बुरे वक्त के लिए तैयार रहना चाहिए.

TOPPOPULARRECENT