Monday , December 11 2017

क्रेडिट रेंटिंग एजेंसी मूडीज की रैंकिंग से बैंकिंग सेक्टर को मिला फायदा, शेयरों में 6% का उछाल

नई दिल्ली : क्रेडिट रेंटिंग एजेंसी मूडीज की तरफ से भारत की रैंकिंग सुधारने का फायदा बैंकिंग शेयरों को सबसे ज्यादा मिला है. शुक्रवार को मूडीज रैंकिंग की वजह से बैंकों के शेयरों में 6 फीसदी का उछाल देखने को मिल रहा है. अमेरिका की रेटिंग एजेंसी मूडीज़ ने भारत की क्रेडिट रेटिंग को सुधारा है. भारत अब BAA3 ग्रुप से उठकर BAA2 ग्रुप में आ गया है. मूडीज़ की इस रैंकिंग में सुधार की वजह भारत के द्वारा किए जा रहे आर्थिक और सांस्थानिक सुधार हैं. इस रेटिंग में करीब 13 साल बाद बदलाव हुआ है, इससे पहले 2004 में भारत की रेटिंग BAA3 थी. इससे पहले 2015 में रेंटिंग को स्टेबल से पॉजिटिव की कैटेगिरी में रखा गया था. BAA3 रेटिंग का मतलब होता था कि सबसे कम निवेश वाली स्थिति का होना. यानी अब मूडीज के अनुसार भारत में निवेश का माहौल सुधरा है. इसलिए रेटिंग को BAA3 से बढ़ाकर BAA2 कर दिया है.

बीएसई पर पंजाब नेशनल बैंक के शेयर टॉप पर हैं. इनमें 6 फीसदी उछाल देखने को मिल रहा है. पीएनबी के अलावा बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयर 5.17 फीसदी, यस बैंक 4.16 फीसदी और एसबीआई के शेयरों में 3.91 फीसदी का उछाल देखने को मिल रहा है.

इनके अलावा आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में 3.55 फीसदी का उछाल है. एक्सिस बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में भी काफी तेजी है. इन दोनों बैंकों के शेयरों में क्रमश : 2.64 और 1.18 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. बीएसई पर बैंकिंग सूचकांक भी 1.90 फीसदी मजबूत होकर 29,450.39 अंक पर पहुंच गया है.

कोटक महिंद्रा बैंक की वरिष्ठ अर्थशास्त्री उपासना भारद्वाज ने समाचार एजेंसी भाषा से कहा कि मूडीज की रेटिंग ने देश में उठाए गए सुधार के कदमों को सराहा है. इन सुधारों से मध्यम अवधि में आर्थ‍िक वृद्धि की संभावना बेहतर होने की उम्मीद है. वीएम पोर्टफोलियो के हेड विवेक मित्तल के अनुसार रेटिंग बढ़ने पर देश की अर्थव्यवस्था के साथ कंपनियों के फंडामेंटल में भी बदलाव आ जाएगा, और कई सेक्टर्स की री-रेटिंग हो सकती है. रेटिंग बढ़ने से देश को आसानी से कर्ज मिल पाएगा.भारत का व्यापार घाटा कम हो जाएगा.इसके साथ ही भारत में विदेशी निवेश बढ़ जाएगा.

TOPPOPULARRECENT