Tuesday , December 19 2017

खज़ाना में 600 करोड़ का हिसाब दस्तयाब नहीं

रांची 27 जून : रांची खजाना में 600 करोड़ रुपये का कोई हिसाब दस्तयाब नहीं है। यह गड़बड़ी डीसी विनय कुमार चौबे ने 26 जून को दस्तावेज के मुआयना के दौरान पकड़ी। डीसी ने नाराजगी जताते हुए सभी इन्खेला और ओहदेदार को हिदायत दिया कि वे अपने एसी/ड

रांची 27 जून : रांची खजाना में 600 करोड़ रुपये का कोई हिसाब दस्तयाब नहीं है। यह गड़बड़ी डीसी विनय कुमार चौबे ने 26 जून को दस्तावेज के मुआयना के दौरान पकड़ी। डीसी ने नाराजगी जताते हुए सभी इन्खेला और ओहदेदार को हिदायत दिया कि वे अपने एसी/डीसी बिल का हिसाब ओडिटर जेनरल दफ्तर में जमा करायें, ताकि खज़ाना की रक़म में इसका एडजस्टमेंट किया जा सके।

डीसी बुध को समाहरणालय के एडोटेरियम में सभी महकमों के ओहदेदारों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने ओहदेदारों को दो माह बाद दुबारा बैठक में आने की हिदायत दिया।

बैठक में “जननी शिशु तहफ्फुज़ प्रोग्राम” के तहत आनेवाले फायदामंद लोगों का फेहरिस्त कराने की हिदायत कम्युनिटी सेहत मराक़ज के डॉक्टरों को दिया गया। बैठक में खज़ाना के तमाम महकमों के ओहदेदार वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT