Saturday , December 16 2017

खतना बना जानलेवा, काटना पड़ा………..

अलवर, २३ नवंबर: राजस्‍थान में डॉक्टर की लापरवाही से सात साल के बच्चे को अपना तनासुल गवाना पड़ा। यह नौबत तब आई, जब उसके खतने का गलत ऑपरेशन कर दिया। बच्चे के घर वाले और नाते-रिश्तेदारों ने इस लापरवाही के लिए प्राइवेट हॉस्पिटल को जिम्म

अलवर, २३ नवंबर: राजस्‍थान में डॉक्टर की लापरवाही से सात साल के बच्चे को अपना तनासुल गवाना पड़ा। यह नौबत तब आई, जब उसके खतने का गलत ऑपरेशन कर दिया। बच्चे के घर वाले और नाते-रिश्तेदारों ने इस लापरवाही के लिए प्राइवेट हॉस्पिटल को जिम्मेदार ठहराया है और डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चे को 10 नवंबर को राजस्‍थान के अलवर में सानिया अस्पताल में खतने के लिए भर्ती कराया गया था। बच्चे के चचा फखरुद्दीन खान के मुताबिक बच्चे के खतने का ऑपरेशन डॉ तय्यब खान ने किया। हालांकि ऑपरेशन के बाद ही उसकी हालत बिगड़ गई तो डॉक्टर ने बच्‍चे को जयपुर ले जाने को कहा।

जयपुर में बच्चे को एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टरों ने कहा कि बच्चे की जान तभी बच सकती है, जब इसका Genitalia हटा दिया जाए, और फिर वही हुआ।

इस बच्चे को दोबारा अलवर के सानिया हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। घर वालों का का कहना है उसकी हालत नाजुक है लेकिन डॉक्टर उसकी हालत नार्मल बता रहे हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि बच्चे का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर ने दावा किया है कि बच्चा जब सोलह साल का होगा, प्लास्टिक सर्जरी से उसका तनासुल(लिंग) ठीक कराया जाएगा।

इसमें नपुसंकता नहीं आएगी, क्योंकि उसकी अंड ग्रन्थि को कोई नुकसान नहीं पंहुचा है।

TOPPOPULARRECENT