Monday , December 18 2017

खराब‌ फ़ार्म के बावजूद जय‌ वरधने बेहतर

श्रीलंका के साबिक़ कप्तान और तजुर्बाकार बैटस्मेन महेला जैवरधने ने कहा है कि पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट में नाकाम होने के बावजूद उन पर बेहतर कारकर्दगी के लिए कोई इज़ाफ़ी दबाव‌ नहीं है।

श्रीलंका के साबिक़ कप्तान और तजुर्बाकार बैटस्मेन महेला जैवरधने ने कहा है कि पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट में नाकाम होने के बावजूद उन पर बेहतर कारकर्दगी के लिए कोई इज़ाफ़ी दबाव‌ नहीं है।

जैवरधने के मिताबिक‌ जब खिलाड़ी मुल्क के लिए खेलते हैं तो हर मैच में कारकर्दगी केलिए दबाव‌ होता है। उन्होंने मज़ीद कहा कि मेरा रिकार्ड देखें, मैंने 139 टेस्ट में 10811 रने बनाए हैं। ये सूरत-ए-हाल मेरे लिए कोई नई नहीं है। दोनों इनिंग में पहला टेस्ट खेलने वाले बिलावल भट्टी की गेंद पर आउट होने पर उन्होंने कहा कि में उन्हें पहली मर्तबा खेल रहा था और जब भी आप किसी बोलर को पहली मर्तबा खेलते हैं तो उस वक़्त मुश्किल ज़रूर होती है।

मेरे साथियों ने बताया था कि बिलावल ने वन्डे सीरीज़ में भी अच्छी बौलिंग की है। अगले मैच मैं बेहतर अंदाज़ में खेलूंगा। 36 साला महेला जैवरधने ने कहा कि मेरे कोई तवील वक्त‌ मंसूबे नहीं हैं। 12 माह बाद टेस्ट खेल रहा था। इस साल पाँच ता छः टेस्ट बाक़ी हैं इन में कारकर्दगी दिखाना चाहता हूँ।

सईद अजमल के मुताल्लिक़ जैवरधने ने कहा कि वो अच्छे बोलर हैं और दुनिया की किसी भी टीम के ख़िलाफ़ अच्छी कारकर्दगी दिखा सकते हैं। हमारे मंसूबा में था कि सईद के ख़िलाफ़ अच्छी बैटिंग करके उन्हें क़ाबू में किया जा सकता है। हम कोशिश करेंगे कि उन्हें पहले टेस्ट की तरह ही खेलें।

TOPPOPULARRECENT