Sunday , December 17 2017

ख़लाई मालूमाती अड्डा मंसूबा बंदी-ओ-निगरानी में मददगार

भुवनेश्वर 19 अक्तूबर (पी टी आई) ख़ला में क़ायम मालीयाती इमदादी अड्डा बराए ग़ैर मर्कूज़ मंसूबा बंदी एक नया ख़ला में क़ायम टैक्नोलोजी पर मबनी कारआमद मालूमात फ़राहम करने वाला अड्डा है। हुकूमत उड़ीसा उसे माईक्रो सतह की मंसूबा बंदी और निग

भुवनेश्वर 19 अक्तूबर (पी टी आई) ख़ला में क़ायम मालीयाती इमदादी अड्डा बराए ग़ैर मर्कूज़ मंसूबा बंदी एक नया ख़ला में क़ायम टैक्नोलोजी पर मबनी कारआमद मालूमात फ़राहम करने वाला अड्डा है। हुकूमत उड़ीसा उसे माईक्रो सतह की मंसूबा बंदी और निगरान कारी के लिए इस्तिमाल करने की ख़ाहां है।

नई तीकनक आला पैमाने पर जी आई ऐस मालूमात बराए सतह ज़मीन, आबादियात, मिट्टी, ढलवान, आबी वसाइल, सड़कों का जाल, अवामी इस्तिफ़ादा के ज़रीया, मुवासलाती जाल और हिफ़्ज़ान-ए-सेहत के मालूमात का अहाता करता है।

ये अड्डा हुकूमत उड़ीसा की जानिब से बारीक बैन मंसूबा बंदी और निगरान कारी के लिए इस्तिमाल किया जाएगा, जिस का फ़ैसला कल एक आला सतही इजलास में किया गया।

उड़ीसा का ख़लाई इस्तिमाल मर्कज़ जो टैक्नोलोजी पर मबनी है बरसों से मुसलसल कोशिशों के नतीजा में अब ख़ला में रियासत उड़ीसा के क़ुदरती वसाइल के बारे में मालूमात का ज़ख़ीरा करने में कामयाब हो गया ही।

चीफ़ मिनिस्टर पटनाइक ने इजलास में कहा कि इस मालूमाती अड्डा का इस्तिमाल साय बाराँ के इलाक़ा में बरसात की मंसूबा बंदी केलिए किया जाएगा ।

TOPPOPULARRECENT