Monday , December 18 2017

ख़ातून को चार बच्चे तव्वुलुद(पैदा हुऐ)

क़ुदरत के खेल और करिश्मे निराले होते हैं। बसाऔक़ात(अक्सर‌) ऐसे वाक़ियात(घट्ना) पेश आते हैं जिस से अक़ल दंगओ(बुदि)-हैरान होजाती है चुनांचे आज एक ऐसा ही वाक़िया(घट्ना) शहर हैदराबाद के ग़नजान आबादी वाले इलाक़ा क़िला गोलकुंडा में पेश आया, जहां अलिफ़ता मैटरनिटी ऐंड नर्सिंग होम निज़द(करीब‌) फ़ते दरवाज़ा गोलकुंडा में एक 22साला ख़ातून को 4बच्चे तव्वुलुद हुए(पैदा हुऐ) जिन में 3लड़के और एक लड़की शामिल है ।

डाक्टर ज़ेबा ख़ुरशीद की निगरानी में इस ख़ातून की ज़चगी हुई जिन्हों ने डाँक्टर ज़ैनब और डाँक्टर हुमैरा जहांगीर अली के हमरा(रास्ते का साथी) मज़कूरा ख़ातून की देख भाल की। ज़चगी के बाद जच्चा और बच्चों को नाइस हॉस्पिटल बाज़ार घाट मुंतक़िल किया गया। ज्च्चा और बच्चे सेहतमंद हैं जिस पर बच्चों के वालिद ने औलाद जैसी नेअमत के हुसूल पर बारगाह इलाही में शुक्र बजा लाते हुए अहलिया-ओ-बच्चों की सेहत पर ख़ुशी-ओ-मुसर्रत का इज़हार किया।

TOPPOPULARRECENT