Monday , December 11 2017

ख़ुदकुशी के वाक़ियात: सुनीता लछ्मी रेड्डी

आंधरा प्रदेश मुल्क में चाइल्ड मैरेज की फ़हरिस्त में छुटे मुक़ाम पर है और कम-ओ-बेश 25 फ़ीसद बच्चों के रियासत में ख़ुदकुशी के वाक़ियात दर्ज किए गए हैं ।

आंधरा प्रदेश मुल्क में चाइल्ड मैरेज की फ़हरिस्त में छुटे मुक़ाम पर है और कम-ओ-बेश 25 फ़ीसद बच्चों के रियासत में ख़ुदकुशी के वाक़ियात दर्ज किए गए हैं ।

यहां एक प्रोग्राम के इफ़्तिताह के मौक़ा पर वॊमॆन्स् डॆवल्प्मॆन्ट् ऐंड चाइल्ड वीलफ़ीर की वज़ीर वे सुनीता लछ्मी रेड्डी ने बताया कि हालाँकि इस सिलसिले में बहुत से क़वानीन बनाए गए हैं लेकिन इन में से किसी का भी नफ़ाज़ अमल में लाया नहीं गया है ।

उन्हों ने इस बात पर ज़ोर दिया कि इस सिलसिले में पुलिस को मुतहर्रिक होना चाहीए और बच्चों और ख़वातीन के साथ होरही ज़्यादतियों पर रोक लगाना चाहीए ।

बहुत से ऐसे केसेस जो ख़वातीन और बच्चों पर मज़ालिम , तशद्दुद और घरेलू ज़्यादतियों के रियासत और शहर के पुलिस स्टेशन में दर्ज किराए गए हैं लेकिन ये तमाम केसेस ज़ेर-ए-ग़ौर हेंजस की वजह से मुतास्सिरीन का पुलिस पर से एतिमाद उठता जा रहा है और सिस्टम पर से भी भरोसा ख़तम् होता जा रहा है ।

TOPPOPULARRECENT