Monday , December 18 2017

ख़ुद को औलाद को और जायदाद को मिल्लत के लिए वक़्फ़ करने तैयार हूँ : फ़र्हत ख़ान

मजीद उल्लाह ख़ां फ़र्हत उम्मीदवार मजलिस बचाव‌ तहरीक हलक़ा असेंबली याक़ूतपूरा ने एलान किया कि वो ख़ुद को अपनी औलाद को और अपनी जायदाद को मिल्लत-ए-इस्लामीया की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए वक़्फ़ करने तैयार हैं।

मजीद उल्लाह ख़ां फ़र्हत उम्मीदवार मजलिस बचाव‌ तहरीक हलक़ा असेंबली याक़ूतपूरा ने एलान किया कि वो ख़ुद को अपनी औलाद को और अपनी जायदाद को मिल्लत-ए-इस्लामीया की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए वक़्फ़ करने तैयार हैं।

उन्होंने ओवैसी बिरादरान को चैलेंज किया कि वो भी जुमा को मक्का मस्जिद आजाऐं और ख़ुद को अपनी औलाद को और अपनी जायदादों को क़ौम किए वक़्फ़ करने का एलान करें।

फ़र्हत ख़ान ने कहा वो मिंबर रसूल(स०) से ये एलान दुहराने के लिए तैयार हैं और इस के लिए आइन्दा जुमा की नमाज़ मक्का मस्जिद में अदा करेंगे।

उन्होंने बताया कि वो अकबरुद्दीन ओवैसी की ख़ाहिश के मुताबिक़ उनके वालिद की तरफ से छोड़ी गई जायदाद उन्हें हवाले करने तैयार हैं बशर्तिके अकबर भी अपनी जायदादों पर स्कूलों की तामीर का एलान करें।

उन्होंने बताया कि जो लोग किरदार कुशी के ज़रीये अपने मुफ़ादात हासिल करने की कोशिश कररहे हैं उनके नापाक अज़ाइम कामयाब नहीं होंगे कयुंकि अब इन्क़िलाब का आग़ाज़ होचुका है।

याक़ूतपूरा से उठने वाले इस इन्क़िलाब की इंतिहा अहमदाबाद ( गुजरात ) होगी जहां हज़ारों मुसलमानों के ख़ून से सरज़मीन को शराबोर किया गया था।

उन्होंने बताया कि वो मैदान सियासत में ना सिर्फ़ तालीमी तरक़्क़ी का मंसूबा लेकर आएं हैं बल्कि गुजरात के क़ातिलों से उनके मुक़ाम पर हिसाब पूरा किया जाएगा।

वो नहीं चाहते कि मुसलमानों को ज़ाफ़रानी शर अंगेज़ों का ख़ौफ़ दिखाकर इक़तिदार हासिल करें बल्कि उन का मक़सद ये हैके भारतीय जनता पार्टी और आर एस एस के ख़ातमा को यक़ीनी बनाने उनके क़िलों में दराड़ डालें। इसी मक़सद के तहत वो याक़ूतपूरा से कामयाबी के बाद हिंदुस्तान भर में तहरीक चलाईंगे और अहमदाबाद में हिसाब किताब मुकम्मिल किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT