ख़ुद-साख़्ता पुलिस ज़ाहिर करके रक़म वसूल करने वाला सहाफ़ी गिरफ़्तार

ख़ुद-साख़्ता पुलिस ज़ाहिर करके रक़म वसूल करने वाला सहाफ़ी गिरफ़्तार
Click for full image

शम्सआबाद 08 नवंबर: शम्सआबाद पुलिस ने ख़ुद-साख़्ता पुलिस ज़ाहिर करके रक़म वसूल करने वाले एक सहाफ़ी को गिरफ़्तार करके उस के क़बजे से 6 हज़ार रुपये ज़बत करलिए।

शम्सआबाद डी सी पी ए आर श्रीनिवास ने प्रेस कांफ्रेंस से मुख़ातिब करते हुए कहा कि 28 सितंबर की शब सात रुकनी टोली ने गै़रक़ानूनी तौर पर चावल मुंतक़िल करने वाली एक बोलेरो कार को रोक कर उसे डरा धमकाकर ख़ुद को पुलिस ज़ाहिर करके उस के पास से 85 हज़ार रुपये वसूल किए थे।

पुलिस ने मुक़द्दमा दर्ज करके 10 अक्टूबर को 6 अफ़राद को गिरफ़्तार करके अदालती तहवील में दे दिया था। एम राजिंदर रेड्डी 31 साला साकिन काशम बाओली मुईनाबाद तेलंगाना शम्सआबाद टाउन सहाफ़ी मुबय्यना तौर पर मफ़रूर था जिसे आज गिरफ़्तार कर लिया गया।

डी सी पी ने बताया कि राजिंदरनगर दो साल से मुबय्यना तौर पर गै़रक़ानूनी तौर पर मुंतक़िल करने वाले चावल वालों को निशाना बनाते हुए उन्हें ख़ुद को पुलिस ज़ाहिर करते हुए भारी रक़ूमात वसूल करना उस का पेशा बन चुका था वो अपने असल पेशे को भूल कर आसान तरीके से रक़म कमाने के लिए ख़ुद को पुलिस ज़ाहिर करके पुलिस की इमेज को ख़राब कर रहा था।

माद्दी राजिंदर रेड्डी दो साल के अरसा में गै़रक़ानूनी कामों में शामिल् हो कर भारी रक़ूमात वसूल करने के लिए उसने एक गैंग भी तशकील दी जिसे पहले ही गिरफ़्तार कर लिया। सहाफ़ी का समाज में एक अहम रोल होता है। सहाफ़त का अवाम पर बहुत जल्द असर होता है।

डी सी पी ने कहा कि राजिंदर रेड्डी की गिरफ़्तारी और इस की तफ़सीलात को डिस्ट्रिक्ट यूनिट और मना तेलंगाना ऑफ़िस को पहुंचाएंगे ताके आइन्दा उसे किसी भी अख़बार या चैनल में काम करने का मौक़ा ना दिया जाये।

Top Stories