Tuesday , December 19 2017

खातून थाना बना शादी की जगह पुलिसवाले बने बराती

खातून थाने में शादी का मंडप बना और दो जोड़ी की शादी करायी गयी। इस दौरान बराती शरीक गवाह के तौर में पुलिस वाले थे। आलमगंज वाक़ेय बेलवरगंज में रहने वाला लड़का व लड़की के दरमियान दो साल से इश्क़ चल रहा था।

खातून थाने में शादी का मंडप बना और दो जोड़ी की शादी करायी गयी। इस दौरान बराती शरीक गवाह के तौर में पुलिस वाले थे। आलमगंज वाक़ेय बेलवरगंज में रहने वाला लड़का व लड़की के दरमियान दो साल से इश्क़ चल रहा था।

दोनों के घर आसपास ही थे। लेकिन, एक माह पहले दोनों के इश्क़ में खटास हो गया। इसी दरमियान लड़की को जानकारी हुई कि वह एक माह के हमल से है। उसके अहले खाना को जब इसकी जानकारी हुई तो उन लोगों ने रानी को लोक-लाज के ख्याल से अपने रिश्तेदार के घर पर भेज दिया। इसके बाद उसके अहले खाना ने नौजवान और उसके अहले खाना से शादी करने को राजी करने के लिए काफी कोशिश किया। लेकिन लड़का शादी करने को तैयार नहीं हुआ और उसने लड़की से रिश्ता तोड़ अपनी शादी कहीं और ठीक कर ली। नौ मार्च को उसकी शादी होनी थी।

तो थाने पहुंची लड़की

दूसरी जगह शादी करने की बात की जानकारी किसी तरह लड़की को लग गयी। इसके बाद वह जुमा को खातून थाना पहुंच गयी और जानकारी दी कि लड़के ने उसे शादी का झांसा दिया और जिंसी इस्तहसाल करता रहा, जिसके वजह वह हमल हो गयी है। पुलिस ने मामले की जानकारी मिलते ही उसका मेडिकल चेकअप कराया, जिससे उसके बयान की तसदीक़ हो गयी।

आज थी लड़के की शादी

इसके बाद खातून थाने की पुलिस हरकत में आयी और मुल्ज़िम को पकड़ कर थाने पर ले आयी। लड़के के रिहाइशगाह पर सनीचर को हल्दी का प्रोग्राम था। उसके साथ खानदान वाले भी दौड़े-दौड़े थाना पहुंचे। लड़की और उसके अहले खाना को भी बुलाया गया। पहले तो लड़के ने शादी न करने की बात पर अड़ा रहा, लेकिन जैसे ही पुलिस ने उसे कानूनी कार्रवाई कर जेल भेजे जाने की जानकारी दी, तो उसके होश उड़ गये। इसके बाद वह शादी करने को राजी हो गया। दोनों के अहले खाना के सामने ही रिवायत के मुताबिक खातून थाने में शादी रचायी गयी और दुल्हन को दूल्हे के घर भेज दिया गया। इस मौके पर थाने के तमाम पुलिस अहलकार मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT