Saturday , November 18 2017
Home / India / ‘खाली पेट कड़क चाय पीने से पेट में अल्सर’, प्रधानमंत्री मोदी के रिमार्क पर राष्ट्रपति पंजाब कांग्रेस का जवाबी वार

‘खाली पेट कड़क चाय पीने से पेट में अल्सर’, प्रधानमंत्री मोदी के रिमार्क पर राष्ट्रपति पंजाब कांग्रेस का जवाबी वार

चंडीगढ़: पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बड़े नोटों को रद्द करने संबंधी अनियोजित और अमानवीय कदम की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि मोदी सरकार पर इस अदूरदर्शिता चाल का जबरदस्त नकारात्मक असर होगा। अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2014 के आम चुनाव में शुरू किए गए ‘चाय पे चर्चा’ को परोक्ष आलोचना करते हुए कहा कि ” आप (नरेंद्र मोदी) की ‘कड़क चाय’ से जनता मर रही हैं।

खाली पेट कड़क चाय पीने से पेट मे अल्सर हो रहा है। ” कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मुद्रा के रद्द अदूरदर्शिता कदम अगर तुरन्त संशोधन न किया तो मोदी सरकार पर इसका उल्टा असर होगा। कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री की ओर से मुद्रा के रद्द में अपनी असफलताओं छिपाने के लिए इतिहास के गलत संदर्भों और झूठ का सहारा लेने पर भी कड़ी आलोचना की।

उन्होंने कहा कि रद्द किये गये नोटों का परिवर्तन या नए नोट प्राप्त करने के लिए बैंकों और एटीएम्स में लंबी कतारों में घंटों खड़े रहने वाले व्यक्तियों वे हैं जो अपनी कड़ी मेहनत से कमाए हुए कुछ हजार नोटों की स्वीकृति से दवाख़ानों इनकार के कारण मर रहे हैं और दिन भर पंक्तियों में टहरने के बावजूद खाली पेट सोने को मजबूर हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी का मजाक उड़ाते हुए कहा कि ” कड़क चाय से संबंधित अपने विजन देश के करोड़ों आम आदमियों के सपनों में डरावने भूत की तरह पीछा करते हुए उनकी नींद हराम कर रहा है। ” कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आरोप लगाया किया कि धनी लोगों को नोटों को रद्द करने के कदम के कई सप्ताह पहले ही खबर दी जा चुकी थी जो पुराने नोटों परिवर्तन की व्यवस्था कर चुके थे और अनियोजित व अमानवीय कदम से आम आदमी ही अकथ्य मुसीबतों का शिकार हो गया है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मांग किया कि नोटों रद्द करने और सार्वजनिक हितों के संरक्षण में विफलता की सारी जिम्मेदारी मोदी को स्वीकार करना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT