Monday , December 18 2017

खोया छात्र पुनर्निर्माण जांच

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच अब जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की गुमशुदगी मामले की जांच करेगी ताकि इस मामले में एक नया दृष्टिकोण अपनाया जा सके। संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण पूर्व) आरपी साथ अध्याय ने जबकि कुछ दिन पहले नजीब अहमद की मां ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर इस मामले की सीबीआई जांच की गुजारिश की थी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले के विरोधाभासी संदर्भ के मद्देनजर सबूत पुनर्वितरण जांच की जाएगी और यह मामला साउथ जिले से क्राइम ब्रांच ले जाया गया है। गौरतलब है कि जेएनयू परिसर में 15 अक्टूबर की रात एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ झगड़े के बाद नजीब अहमद रहस्यमय रूप से लापता हो गए थे।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक कुमार वर्मा के निर्देश पर पिछले महीने स्पेशल इंवेस्ट इंवेस्टीगेशन टीम का गठन किया गया था। लेकिन अतिरिक्त डीसीपी II (साउथ) मनीष चंद्रा की आभरकयादत विशेष जांच दल इस मामले में पता लगाने में सफल नहीं हो सकी जबकि VIMHANS डॉक्टर ने पुलिस को बताया है कि नजीब अहमद मानसिक रोग से प्रभावित हैं जिसके मद्देनजर इस मामले की मनोवैज्ञानिक पहलू से जांच शुरू कर दी गई है। इस ख़सूस में एम्स और एमएल मनोवैज्ञानिकों का सहयोग प्राप्त किया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT