ख्वातीन के लिबास में इन की हिफ़ाज़त मुज़म्मिर ( शामिल): वज़ीर मध्य प्रदेश

ख्वातीन के लिबास में इन की हिफ़ाज़त मुज़म्मिर ( शामिल):  वज़ीर मध्य प्रदेश
क़ौमी कमीशन बराए ख़वातीन सदर नशीन ममता शर्मा (NCW chairperson Mamta Sharma's) के ख्वातीन के लिबास के बारे में रिमार्कस के बाद अब मध्य प्रदेश के एक वज़ीर ने भी आज कहा कि किसी ख़ातून की इज़्ज़त और इस का एहतिराम इस बात में मुज़म्मिर ( शामिल) है कि वो किस तरह का लि

क़ौमी कमीशन बराए ख़वातीन सदर नशीन ममता शर्मा (NCW chairperson Mamta Sharma’s) के ख्वातीन के लिबास के बारे में रिमार्कस के बाद अब मध्य प्रदेश के एक वज़ीर ने भी आज कहा कि किसी ख़ातून की इज़्ज़त और इस का एहतिराम इस बात में मुज़म्मिर ( शामिल) है कि वो किस तरह का लिबास पहनती है और इस का तर्ज़ अमल किस तरह का है ।

कैलाश विजय वरगया ने कहा कि ख़वातीन का फैशन , तर्ज़-ए-ज़िदंगी और बरताव हिंदूस्तानी तहज़ीब के मुताबिक़ होना चाहीए । ख़वातीन को ऐसे लिबास ज़ेब ए तन ( वस्त्र धारण) नहीं करना चाहीए जिन से दूसरों को इश्तिआल (भड़काना) हो और उन्हें ग़लत बरताव का मौक़ा मिले ।

ख़वातीन ऐसे लिबास पहनें जिन्हें देख कर दूसरों के दिल में एहतिराम हो । इस के बरअक्स (विपरीत)अफ़सोसनाक पहलू ये है कि ख़वातीन इश्तिआल अंगेज़ लिबास ( भड़काने वाला वस्त्र) पहन रही हैं और इस से समाज में अख़लाक़ी इक़दार रूबा ज़वाल हो रहे हैं ।

गोवाहाटी में 17 साला लड़की का 9 जुलाई को तक़रीबा 40 अफ़राद पर मुश्तमिल हुजूम ने इस्मत रेज़ि (बलात्कार) की जब वो एक बार से बाहर आ रही थी । इस वाक़िया पर रद्द-ए-अमल (प्रतिक्रिया) ज़ाहिर करते हुए क़ौमी कमीशन बराए ख़वातीन सदर नशीन ने कहा था कि ख़वातीन को लिबास के मुआमला में मुहतात रहना चाहीए। मग़रिबी तहज़ीब (पश्चिम सभ्यता) की अंधी तक़लीद की वजह से ऐसे वाक़ियात पेश आ रहे हैं ।

Top Stories