Friday , December 15 2017

गंगाजल’ के व्यावसायीकरण का संत समाज ने किया विरोध

हरिद्वार / नई दिल्ली: केंद्र सरकार की आनलाइन गंगा जल बिक्री को लेकर संत समाज नाराज़ हो गया है उन्होंने केंद्र सरकार के इस प्रस्ताव की निंदा की है | गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने डाकघरों के ज़रिये घरों तक गंगा जल पहुँचाने की योजना बनायी है |

स्वामी अचुत्यानंद तीर्थ जी महाराज ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि गंगा हमारी माँ है और इसमें 100 करोड़ से अधिक भारतीयों की आस्था है मां को बेचना सिर्फ एक पाप नहीं बल्कि बहुत बड़ा पाप है। हम सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना की निंदा करते हैं।अगर सरकार ने इस पर रोक नहीं लगायी तो हम इसे सुप्रीम कोर्ट तक ले जायेंगे

भाजपा के वरिष्ठ नेता और संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद के लिए केंद्रीय मंत्री ने कहा, “हरिद्वार और ऋषिकेश से गंगाजल देश के गांवों तक पहुँचाने के लिए यह एक अच्छी पहल है इससे ग्रामीण क्षेत्रों को फायदा होगा। हम डाक विभाग के माध्यम से देश का चेहरा बदल रहे हैं। ”

रिपोर्ट के अनुसार, पवित्र जल उपलब्ध कराने के लिए ये योजना पहले से ही कुछ वेबसाइटों पर शुरू कर दी गयी थी एक लीटर बोतल गंगा जल की कीमत 299 रुपये है |

TOPPOPULARRECENT